Breaking News

कुतुबमीनार परिसर में खुदाई कराने का सरकार ने कोई निर्णय नहीं लिया: केंद्रीय संस्कृति मंत्री

हैदराबाद,। केंद्रीय संस्कृति मंत्री जीके रेड्डी ने रविवार को स्पष्ट किया कि भारतीय पुरातत्व विभाग के द्वारा कुतुबमीनार परिसर में खुदाई करने का कोई निर्णय नहीं लिया गया है। दरअसल, कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया था कि भारतीय पुरातत्व विभाग कुतुबमीनार परिसर की खुदाई करेगी।

बता दें, कुतुबमीनार को लेकर उपजे विवाद के बीच भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआइ) को कुतुबमीनार की सच्चाई पता लगाने की जिम्मेदारी दी गई है। केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय के सचिव गोविंद मोहन भी कुतुब मीनार का जायजा ले चुके हैं।

कुतुबमीनार विवाद ने भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआइ) के पूर्व क्षेत्रीय निदेशक धर्मवीर शर्मा के बयान के बाद तूल पकड़ा है, जिसमें उन्होंने इसे सूर्य स्तंभ वेधशाला बताया है। उनके अनुसार, इसे कुतुबुद्दीन ऐबक ने नहीं, उससे 700 साल पहले राजा चंद्रगुप्त विक्रमादित्य ने आचार्य वाराहमिहिर के नेतृत्व में बनवाया था। कई अन्य शोधकर्ता भी यही बात दोहराते हैं।

इस विवाद के बाद इस भीषण गर्मी में भी अन्य स्मारकों की अपेक्षा इस स्मारक में पर्यटकों की बढ़ोत्तरी हुई है, जबकि दिल्ली के अन्य स्मारकों में गर्मी के चलते पर्यटक पहुंचने कम हुए हैं। कुतुबमीनार में दिल्ली के रहने वाले पर्यटकों के अलावा राजस्थान, गुजरात, उत्तर प्रदेश, बिहार, हिमाचल और हरियाणा से भी पर्यटक पहुंच रहे हैं।पर्यटक सीधे कुतुबमीनार के पास पहुंचते हैं, जहां वह इस बात पर चर्चा करते हैं कि यह कुतुबमीनार है या वेधशाला।