Breaking News

दीपक हत्या काण्ड: धरने पर बैठा परिवार सीएम से बात करने की लगाई गुहार, सीबीआई जांच कराने पर अड़े परिजन

मेरठ मेरठ के परीक्षितगढ़ में दीपक के कटे सिर को रख कर परिजन और ग्रामीण धरना दे रहे हैं। लोगों को समझाने में एसएसपी भी फेल हो गए। ग्रामीणों ने एसएसपी से कहा है कि मुख्यमंत्री से बात कराओ, इस केस की सीबीआई जांच कराओ, तभी त्यागी समाज मानेगा। ग्रामीणों का कहना है कि पुलिस ने उन लोगों को बचाया है, जो दीपक की हत्या में मुख्य आरोपी हैं। इस मामले में बड़ी साजिश चल रही है। पीड़ित परिवार को बताया जाए कि उनके बेटे का कटा हुआ सिर कहां पर रखा हुआ था। गड्ढे में सिर को छुपाया था, यह बात गलत है। पुलिस सही-सही बात बताएगी तो ग्रामीण उठ जाएंगे। अन्यथा यह धरना अनिश्चित काल के लिए किला-परीक्षितगढ़ रोड पर चलता रहेगा। पुलिस किसान नेता मांगेराम त्यागी और समाजसेवी सचिन सिरोही को मनाने में लगी हुई है। सड़क पर चल रहे धरने पर लोगों की भीड़ बढ़ती जा रही है।

ग्रामीणों ने धरनास्थल पर ही खाना बनाने की भट्टी लगा दी है। पीड़ित परिवार का कहना है कि जब तक हमारी मांगें नहीं मानी जाती, तब तक हंगामा जारी रहेगा। ग्रामीणों के मेरठ कूच करने का अंदेशा जताते हुए पुलिस ने कई स्थानों पर बैरिकेडिंग कर दी है। मौके पर भारी पुलिस-बल मौजूद है।
सड़क पर धरना देकर बैठे लोगों के पास सपा नेता मुखिया गुर्जर और उनके कार्यकर्ता भी पहुंच गए। इस मामले में भाजपा के कार्यकर्ता भी मौके पर मौजूद हैं। धरने को का नेतृत्व कर रहे मांगेराम त्यागी का कहना है कि यह सर्व समाज का धरना है और दीपक को इंसाफ दिलाने के लिए सब लोग बैठे हैं। एहतियात के तौर पर गांव के चारों ओर पुलिस तैनात है।
विश्व हिंदू परिषद के नेता दीपक त्यागी का कहना है कि पुलिस ग्रामीणों के सब्र का इम्तिहान ले रही है। पुलिस ने जल्द ही निस्तारण नहीं किया तो वह दीपक के कटे हुए सिर को लेकर हजार लोगों की भीड़ के साथ एसएसपी के ऑफिस पर पहुंचेंगे। हालांकि एहतियातन पुलिस ने कई मार्गों पर बैरिकेडिंग कर दी है।
दरअसल, मेरठ में परीक्षितगढ़ के खजूरी गांव के दीपक त्यागी की हत्या का पुलिस ने खुलासा तो कर दिया है लेकिन ग्रामीण इसे नकार रहे हैं। पुलिस का दावा है कि गांव के ही फैमीद नट ने आसिफ के साथ मिलकर दीपक को 26 सितंबर की रात पहले शराब व सुल्फे वाली बीड़ी पिलाई और फिर तलवार से सिर काट दिया। फैमीद को मालूम था कि दीपक के उसकी विवाहिता बेटी से संबंध हैं।

पुलिस ने छह दिन बाद सोमवार को गन्ने के खेत में दबा दीपक का सिर और तलवार भी बरामद कर ली। खुलासे पर सवाल उठाते हुए किसान नेता मांगेराम त्यागी, समाजसेवी सचिन सिरोही ने दीपक के परिजनों संग कटा सिर खजूरी-मेरठ मार्ग पर रखकर जाम लगा दिया और सीबीआई जांच की मांग की।