Breaking News

स्पेशल

भ्रष्टाचार के कचरे पर ही पलता है ऐसे मीडिया संस्थानों का कीड़ा

पंकज झा- दिसंबर की एक गुनगुनी धूप वाली सुबह! अखबारों के बण्डल के साथ धूप और दिमाग सेंकने सोसाइटी के उद्यान में चला गया था. अनायास कथित बड़े अखबार में अपने ही नाम पर नज़र गयी. बाकायदा बड़ी सी खबर छपी थी. लेखों के साथ अपना नाम देखने की तो ...

Read More »

कीचड़ मलती ‘गोरी’ पत्रकार या श्मशानों से लाइव रिपोर्टिंग… समाज/मदद के नाम पर शुद्ध धंधा है पत्रकारिता

हाल ही में एक खबर आई है जर्मनी से। जर्मनी की एक टीवी रिपोर्टर ने ऐसा कुछ किया है, जिससे एक बार फिर से पत्रकारिता के मानक पर सवाल उठने लगे हैं। 39 वर्षीय टीवी रिपोर्टर सुजाना ओहलेन ने बाढ़ग्रस्त इलाकों में लोगों की मदद करने का दिखावा करने के लिए झूठी ...

Read More »

अफगानिस्तान : क्या फिर लौटेगा तालिबानी आतंक?

के. विक्रम राव पश्चिमी हिमालय में हिन्दकुश पवर्त शृंखला पर बसा अफगानिस्तान आज भारत के लिए दहशत फैला रहा है। लुटेरे अहमदशाह दुर्रानी ने 1757 के दौर में हिन्दुस्तान के लिए आतंक पैदा किया था। आज तालिबानी अफगानिस्तान से फिर पश्चिमी सीमावर्ती भारत के सामने खतरा नजर आ रह है। ...

Read More »

मैं पुलिस हूँ…….

मैं जानता था कि फूलन देवी ने नरसंहार किया है लेकिन संविधान ने बोला कि चुप वो SP की नेता है उसके #बॉडीगार्ड बनो , मै बना क्यूँकि मैं पुलिस हूँ… मैं जानता था कि शाहबुद्दीन ने चंद्रशेखर प्रसाद के तीन बेटों को मारा है लेकिन #संविधान ने बोला कि चुप वो RJD ...

Read More »

सुरसा की तरह बढ़ती आबादी, मजहबी कुतर्कों से नहीं टलेगा खतरा: योगी सरकार के इस कदम पर बात करनी ही होगी

शिव मिश्रा  विश्व जनसंख्या दिवस पर उत्तर प्रदेश सरकार ने जनसंख्या नियंत्रण से संबंधित एक बिल का ड्राफ्ट पेश किया। राज्य विधि आयोग द्वारा जारी किए गए ड्राफ्ट के अनुसार प्रस्तावित कानून का नाम उत्तर प्रदेश जनसंख्या (नियंत्रण, स्थिरीकरण और कल्याण) विधेयक 2021 होगा। विधि आयोग की विज्ञप्ति के अनुसार विधेयक के ड्राफ्ट को ...

Read More »

यूपी / उत्तराखंड के गुरुद्वारों में खालिस्तान के लिए वोटर-रजिस्ट्रेशन..!

Loading... आतंकी संस्था ‘सिख फॉर जस्टिस’ की तरफ से हो रही है सिखों से अपील खुफिया एजेंसियां कहती हैं उन्हें पता है, पर जमीन पर कार्रवाई लापता है यूपी / उत्तराखंड के गुरुद्वारों की तरफ से भी अबतक कोई खंडन जारी नहीं विधानसभा चुनाव के पहले दोनों राज्यों को अराजकता ...

Read More »

नेपाल के नटवरलाल ओली का पतन !

के. विक्रम राव राजनीति कभी भी रिक्तता गवारा नहीं करती। प्रकृति हमेशा समरसत्ता ही सर्जाती है। अत: नेपाल के इतिहास की उग्रतम वैधानिक विपदा कल (13 जुलाई 2021) तिरोहित हो गयी। संदेहास्पद राष्ट्रपति तथा दृढ़ प्रधानमंत्री की तकरार में उच्चतम न्यायालय ने सही समय पर हस्तक्षेप किया। इस हिमालयी गणराज्य ...

Read More »

कभी अंडा-फार्म देखे हैं?

सर्वेश तिवारी श्रीमुख अंडा फॉर्म का मालिक मुर्गी खरीद कर लाता है। उन्हें अनेक तरह के पौष्टिक और उत्तेजक आहार देता है, ताकि वे रोज अंडा दे सकें। दवाइयों के कारण अप्राकृतिक तरीके से मुर्गियां साल भर तक रोज अंडा देती हैं, जिससे मालिक का धंधा चलता है। मुर्गी को ...

Read More »

कांटे सेे कांटा निकाल रहा है भाजपा का हाईकमान

राजेश श्रीवास्तव Loading... मोदी के भरोसेमंद एके शर्मा को डिप्टी सीएम बनाए जाने की चर्चा महीनों चली लेकिन आखिर में उन्हें यूपी बीजेपी का सत्रहवां उपाध्यक्ष बना दिया गया। निश्चित रूप से उन्हें दो साल पहले यह कहकर तो आईएएस के पद से वीआरएस नहीं दिलाया गया होगा कि उन्हें ...

Read More »

असहमति की सीमा, प्रतिरोध के प्रकार

के. विक्रम राव पूर्वी दिल्ली के दंगों (फरवरी 2020) वाले मुकदमें के अभियुक्तों पर उच्चतम न्यायालय का कल (18 जून 2021) का आदेश कहीं अधिक निर्णयात्मक हो सकता था। अभियुक्तों की जमानत निरस्त तथा हाईकोर्ट के आदेश को ही रद्द किया जा सकता था। ये आरोपी जवाहरलाल नेहरु विश्वविद्यालय के ...

Read More »

मुसलमान और यहूदी की साझा सरकार

के. विक्रम राव तनिक कल्पना कीजिये कि काशी और मथुरा में औरंगजेबी मस्जिदों को हटाकर पंथनिरपेक्षता हेतु शिवाला और कृष्ण मंदिर बनावाने की मुहिम कांग्रेस की सोनिया गांधी चलाये!! बहुसंख्यकों की आस्था का इस्लामी आक्रामकों द्वारा ऐतिहासिक दमन कांग्रेस अध्यक्ष खत्म करायें। मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के पुरोधा जनाब जफरियाब ...

Read More »

मुमकिन माना मीडिया ने! नामुमकिन कर डाला योगीजी ने !!

के. विक्रम राव यूं तो हमारे व्यवसाय में फ़ेक (फर्जी) और पेइड (दाम चुकाई) न्यूज का प्रचलन अरसे से है। खासकर चुनाव के दौरान। अब ”प्लांटिंग”(रोपना) भी चालू है। इसीलिये हमलोग तो पसोपेश में उलझे रहते हैं कि पत्रकारिता आखिर है क्या? व्रत है या वृत्ति? मगर गत दिनों लखनऊ ...

Read More »

पंजाब सलटा नहीं, राजस्थान-छत्तीसगढ़ में भी बगावत की चिंगारी: पायलट और ‘महाराज’ इस बार बिगाड़ देंगे कॉन्ग्रेस का गेम?

अनुपम कुमार सिंह राजस्थान में 2020 में वो जून-जुलाई का ही महीना था, जब अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच विवाद सार्वजनिक हो गया था। सचिन पायलट को जुलाई 2020 में राज्य के उप-मुख्यमंत्री के पद से हटा दिया गया था। तब उन्होंने सत्य के परेशान होने और पराजित न ...

Read More »

विकास में वक्फ का रोड़ा नागवार होगा!

के. विक्रम राव न्यायिक निर्णय (हाईकोर्ट : 1 जून 2021) के बाद राजधानी के ”सेन्ट्रल विस्ता” योजना का निर्माण कार्य निर्बाधरुप से चलेगा। किन्तु दिल्ली वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष और ओखला क्षेत्र से आम आदमी पार्टी के विधायक मियां मोहम्मद अमानतुल्ला खान ने (4 जून 2021) प्रधानमंत्री को पत्र लिख ...

Read More »

लैब लीक थ्योरी: भारतीय वैज्ञानिकों की रिसर्च में Covid-19 की उत्पत्ति को लेकर कई बड़े खुलासे, पढ़िए सबकुछ

चीन के वुहान शहर में पहली बार कोविड-19 का पता चलने के डेढ़ साल बाद भी यह सवाल रहस्य बना हुआ है कि दुनियाभर में कोरोना वायरस कहाँ से फैला। दरअसल, चीन की वुहान लैब से डेढ़ साल पहले SARS-CoV-2 वायरस के लीक होने की खबरों ने जोर पकड़ा था, ...

Read More »

जार्ज फर्नांडिस, एक श्रद्धांजलि

3 जून 2021 जार्ज की 91वीं वर्षगांठ पर के. विक्रम राव आज (3 जून 2021) बागी लोहियावादी जार्ज मैथ्यू फर्नाण्डिस 91 वर्ष के होते। जिस युवा समाजवादी द्वारा बन्द के एक ऐलान पर सदागतिमान, करोड़ की आबादीवाली मुम्बई सुन्न पड़ जाती थी। जिस मजदूर पुरोधा के एक संकेत पर देश ...

Read More »

मुस्लिमों के बीच काला लिबास, हिन्दुओं के बीच चंदन लगाना: प्रियंका के बहरूपिया पर विश्वास कर कौन देगा वोट?

यदि स्लेट सफा चट्ट रहे तो फिर उस पर इच्छानुसार कुछ भी लिखा जा सकता है। छात्र वर्णमाला से लेकर व्याकरण और गिनती से लेकर पहाड़ा तक, कुछ भी टीप सकता है। और छात्र यदि पढ़ने की ऐक्टिंग करने वाला हो तो फिर पढ़ाई करने का आभास देते हुए वह ...

Read More »

7 साल बाद PM मोदी यहाँ हैं… नेहरू, इंदिरा, मनमोहन कहाँ थे

लोकतंत्र और सियासत की सबसे बड़ी खासियत यह होती है कि वह हर दौर में चेहरा/चेहरे तलाश लेता है, जिनके इर्द-गिर्द चुनावी राजनीति सिमटी रहती है। इन चेहरों का प्रभाव व्यापक या क्षेत्रीय हो सकता है। पर इसका उलट एक क्रूर सत्य भी है। अमूमन ऐसे चेहरे अपने राजनैतिक प्रभाव ...

Read More »