Breaking News

साहित्य

पतरकी (पुस्तक समीक्षा)

सूर्य कुमार त्रिपाठी हिन्दी साहित्य के मठाधीशी ने , मोबाइल की क्रांति ने, हिन्दी पुस्तकों के दाम ने पाठक के बीच की दूरी को बहुत लम्बा कर दिया । आप भारतीय प्रेस की रिपोर्ट देखें तो पायेंगे कि हिन्दी साहित्य और यहाँ तक कि पत्रिकाओं के प्रसार संख्या में बहुत ...

Read More »

गोपालगंज साहित्योत्सव : अद्भुत अनुकरणीय सराहनीय

अद्भुत अनुकरणीय सराहनीय ! हां इतने विशेषण पूरी तरह उपयुक्त हैं गोपालगंज साहित्योत्सव हेतु । जिसे चरणाश्रयी संस्था ने बिहार राज्य के सुदूर गाँव करवतही बाजार में सात जून को आयोजित किया था । आप पूछ सकते हैं ” तो ” । तो यह कि यह एक असामान्य घटना है। ...

Read More »

तीन संभावनाएं जो प्रणब मुखर्जी के नागपुर जाने से जुड़ती हैं

नीलेश द्विवेदी एक वक़्त था जब प्रणब मुखर्जी को देश के प्रधानमंत्री पद के लिए सबसे मज़बूत दावेदारों में गिना जाता था. हिंदीभाषी भले न थे पर राजनीतिभाषी ऐसे कि कांग्रेस के संकटमोचक माने जाते थे. साथ ही मृदुभाषी इतने कि जून 2012 में जब उनका नाम राष्ट्रपति चुनाव के लिए आगे किया गया ...

Read More »

जब महात्मा गांधी ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के एक शिविर को संबोधित किया…

1934 के दिसंबर महीने में जमनालाल बजाज ने महात्मा गांधी को वर्धा आमंत्रित किया था. गांधी जिस दोमंजिला घर में ठहरे थे, उसके ठीक सामने एक विशाल मैदान था जो जमनालाल बजाज की ही संपत्ति थी. उन दिनों उस मैदान पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) का शीतकालीन शिविर चल रहा ...

Read More »

अंतरराष्ट्रीय साजिश का शिकार हो गया है विपक्ष

योगेश किसलय अंतरराष्ट्रीय साजिश का शिकार हो गया है विपक्ष। 2014 के बाद से कुछ ताकते इस बात को लेकर परेशान हैं कि भारत का भगवाकरण हो रहा है। ये मूर्ख ही नही विदेशी ताक़त के हाथों बिके हुए भी हैं । भारत एक सॉफ्ट स्टेट नही रहा। जिसको जैसा ...

Read More »

चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया को RSS एजेंट साबित करना चाहती है कांग्रेस

मनीष कुमार चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव लाना कोई मजाक है क्या? क्या अभी विपक्ष के नेताओं को डा. भीमराव अंबेदकर की बातें याद नहीं आती? हो सकता है विपक्ष में बैठे बैठ चार सालो में इनकी यादाश्त कमजोर हो गई लेकिन क्या बुद्धि भी मारी गई ...

Read More »

महाभियोग : कांग्रेस का दुस्साहस

डॉ. वेद प्रताप वैदिक स्वतंत्र भारत के इतिहास में यह पहली घटना है कि सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश को महाअभियुक्त के कठघरे में खड़ा किया जा रहा है। महाअभियुक्त के लिए महाभियोग ! मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा के खिलाफ यह महाभियोग कांग्रेस समेत छह राजनीतिक दलों की ओर से ...

Read More »

एनेमी प्रॉपर्टी: अपने लोगों ने देश छोड़ा और उनकी संपत्ति ‘दुश्मन’ की हो गई?

अभिषेक रंजन सिंह पिछले दिनों केंद्र सरकार ने एनेमी प्रॉपर्टी (शत्रु संपत्तियों) को बेचने की कवायद शुरू कर दी. इसके तहत सरकार ने अपने खजाने में तकरीबन एक लाख करोड़ रुपए की वृद्धि करने का लक्ष्य रखा है. केंद्र सरकार ने मुख्य संरक्षण कार्यालय यानी कस्टोडियन को इस साल जून-जुलाई ...

Read More »

OBC आरक्षण में कोटा को लेकर क्यों मची है मोदी और योगी सरकार के बीच होड़!

सुरेन्द्र किशोर पिछड़ा आरक्षण कोटे के वर्गीकरण को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार और केंद्र सरकार के बीच होड़ देखी जा रही है. देखना है कि इस मामले में ठोस कदम पहले कौन सरकार उठा पाती है. राजनीतिक प्रेक्षकों के अनुसार अगले लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए एनडीए के ...

Read More »

ऐसे राजनेताओं के चुनाव लड़ने पर रोक लगे !

सुरेन्द्र किशोर भ्रष्टाचारियों की नाक में दम करने वाले पांच लड़ाकों का विवरण दैनिक हिंन्दुस्तान ने 9 दिसंबर 2017 को छापा था। अखबार ने जिन लड़ाकों के नाम गिनाए, उनमें अन्ना हजारे, संतोष हेगड़े, अखिल गोगई, दंर्गा उरांव और अजित कुमार शामिल हैं। अखबार ने साथ ही यह भी लिखा ...

Read More »

SC/ST एक्ट को आरक्षण से जोड़ना गदहापंती होगा, ये अंधा कानून है !

योगेश किसलय राजू बता रहे थे कि उनके केबल नेटवर्क को लेकर एक युवक भारी तनाजा किये हुए था । पुलिस की भी मदद ली गयी लेकिन युवक मानने को तैयार नही था। फिर एक दिन दस बारह लोगो के बीच उसे सौहार्दपूर्ण तरीके से स्थिति को समझाया गया। लड़के ...

Read More »

कानून को कानून ही रहने दें, ‘हथियार’ न बनाएं

रविकांत सिंह  पूरे देश में भारत बंद का असर है. कहीं ज्यादा तो कहीं कम. मामला एससी/एसटी एक्ट में संशोधन का है. सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि बिना सोचे विचारे किसी की शिकायत पर गिरफ्तारी नहीं कर सकते. जबतक किसी बड़े अधिकारी ने इसपर हामी ना भरी ...

Read More »

मोदी या सिस्टम, किसे बदलें?

पी. के. खुराना मैंने कोई तीर नहीं मारा था, यह सामान्य ज्ञान की बात थी। बैंक घोटाला सामने आते ही मैंने कहा था कि यह संभव ही नहीं है कि ऐसा सिर्फ किसी एक बैंक के साथ हुआ हो और यह सिर्फ एक व्यक्ति या एक परिवार तक सीमित हो। ...

Read More »

भीमराव अंबेडकर जी का चमत्कार, कि लोगों को अब टांगें नहीं, बैसाखियां ही चाहिए!

अभिरंजन कुमार जो काम अभी तक दुनिया के बड़े-बड़े वैज्ञानिक नहीं कर पाए हैं, वह काम बसपा ने कर दिखाया है। उसने भीमराव अंबेडकर का क्लोन तैयार कर लिया है। देश के सामने एक और “भीमराव अंबेडकर” पेश कर दिया है। महापुरुषों की ऐसी क्लोनिंग या सरल भाषा में कहें ...

Read More »

29 मार्च 1857: तस्वीरों में कैद भारत के पहले स्वतंत्रता संग्राम की कहानी

1857 वो साल था, जो आगे आने वाले 100 सालों के लिए हिन्दुस्तान की किस्मत तय तरने वाला था. यही वो साल था जो दुनिया के इतिहास को नया मोड़ देने वाला था और भारत में स्वतंत्रता संग्राम की शुरुआत करने वाला था. 1857 में जो विद्रोह हुआ उसकी शुरुआत आज यानी 29 मार्च को ही ...

Read More »

महावीर जयंती 2018: जानिए, क्यों मनाते हैं ये पर्व और क्या है इतिहास

आज यानी 29 मार्च को महावीर जयंती है. ये पर्व जैन समुदाय के लिए सबसे बड़ा त्योहार है क्योंकि आज ही जैन धर्म की स्थापना करने वाले भगवान महावीर का जन्म हुआ था. इस पर्व को महावीर जन्म कल्यानक भी कहा जाता है. इस पर्व पर जैन धर्म के 24वें ...

Read More »