Breaking News

ये यूपी है भैया ! यहाँ पूछ-ताछ के नाम पर “कसाई पुलिस” देती है “थर्ड डिग्री” का करंट

pollice-third-digreeबांदा/लखनऊ। बांदा पुलिस का बेरहम चेहरा सामने आया है. जहां लूट के मामले में पकड़े गए पांच युवकों को बर्बरता से पीटने के आरोप थाने के एसओ समेत सात पुलिस कर्मियों पर लगा है. हालांकि मीडिया में खबर आने के बाद एसपी ने एसओ समेत सभी 7 पुलिस कर्मियों को सस्पेंड कर दिया है.

बता दें, कि जसपुरा थाना क्षेत्र के ग्राम सिकौहुला मोड़ पर 21 नवंबर की रात कानपुर की ओर से आ रही एक डीसीएम व तीन ट्रकों को लूट लिया गया था. उनके चालकों को बाइक सवार आधा दर्जन लोगों ने तमंचों के बल पर लूटा था.

घटना के बाद पीड़ित चालकों ने भागकर थाने में पीटने व सवा लाख लूटा जाना बताया था. इसी घटना को लेकर पुलिस ने महज शक के आधार पर पुलिस ने बाइक सवार पांचों युवकों शाहरूख, करीम खां, शोकिया खां, सलमान खां, रासिक खां को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था.

वहां दोनों पक्ष में समझौता होने से पुलिस ने शांति भंग की कार्यवाही की थी. पूरे प्रकरण को लेकर युवकों के परिजन व गांव के लोग सपा जिलाध्यक्ष शमीम बांदवी की अगुवाई में एसपी से जाकर मिले. वहां शिकायती पत्र देकर उन्होंने बताया कि सभी युवक उस रात सिकौहुला गांव शादी के निमंत्रण में गए थे.

Loading...

वहां से लौटते समय एसओ पंकज तिवारी, एसआई रमाशंकर, कांस्टेबल सरवन कुमार, शैलेंद्र, अरबद, अमित व नारायन यादव ने जबरन पकड़ लिया था. आरोप लगाया कि सभी पुलिस वालों ने उन्हें जहां बर्बरता पूर्ण पीटा.

बेरहमी से पीटने पर वह बुरी तरह घायल हो गए हैं. इतना ही नहीं थाने में पीटने के साथ उनके रुपए व मोबाइल भी पुलिस वालों ने छीन लिए हैं. घटना को गम्भीरता से लेते हुए एसपी श्रीपति मिश्र ने स्सेपेंड की कार्यवाही करते हुए सभी आरोपी पुलिस कर्मियों के विरुद्ध कोतवाली नगर में मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया. वहीं पुलिस सभी घायलों को जिला अस्पताल भेजकर उनका डाक्टरी परीक्षण करवा रही है.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *