Sunday , November 29 2020
Breaking News

कनाडा की संसद में सिख रक्षा मंत्री की अंग्रेजी का सांसद ने उड़ाया मजाक

sardar parliamentटोरंटो। कनाडा के पहले सिख रक्षा मंत्री हरजीत सज्जन को संसद में उस समय भेदभाव का सामना करना पड़ा, जब एक विपक्षी सदस्य ने चिल्लाकर कहा कि जब वह बोलते हैं तो सांसदों को ‘अंग्रेजी से अंग्रेजी’ अनुवाद की जरूरत होती है। इसे एक ‘नस्ली’ टिप्पणी कहा जा रहा है।

वरिष्ठ कंज़रवेटिव सांसद जेसन केनी ने संसद में प्रश्नकाल के दौरान तब विवाद खडा कर दिया जब उन्होंने सज्जन को निशाना बनाते हुए टिप्पणी की। केनी ने यह टिप्पणी तब की जब सज्जन इस्लामिक स्टेट के खिलाफ सैन्य अभियान के बारे में जवाब दे रहे थे।

पूर्व रक्षा मंत्री केनी ने कहा कि सांसदों को सज्जन के जवाबों पर ‘अंग्रेजी से अंग्रेजी’ का एक अनुवाद चाहिए। 45 वर्षीय सज्जन गत नवंबर में कनाडा के रक्षा मंत्री बनाए गए थे जब प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडऊ की 30 सदस्यीय लिबरल कैबिनेट ने शपथ ली थी।

वह एक भूतपूर्व सैनिक हैं और बोस्निया में काम कर चुके हैं। इसके साथ ही उनकी तैनाती कंधार, अफगानिस्तान में भी रही है। सज्जन का जन्म भारत में हुआ था और वह तब अपने परिवार के साथ कनाडा चले गए थे, जब वह पांच साल के थे।

Loading...

हफिंगटन पोस्ट कनाडा के अनुसार सज्जन की पार्टी के अन्य सांसदों ने केनी पर निशाना साधा और उनकी टिप्पणी को नस्ली करार दिया। प्रश्नकाल के बाद लिबरल पार्टी के केविन लैमोरिक्स उठे और केनी से रक्षा मंत्री के बारे में की गई ‘अनुचित टिप्पणी’ के लिए माफी मांगने के लिए कहा।

लैमोरिक्स ने आरोप लगाया कि जब सज्जन बोल रहे थे तब केनी ने ‘अपनी सीट से कहा कि हमें अंग्रेजी से अंग्रेजी’ अनुवाद की जरूरत है। लैमोरिक्स ने कहा, ‘मैं सोच रहा हूं कि यदि कोई सदस्य ऐसी अनुचित चीज करेगा और माफी मांगेगा या कम से कम अपनी टिप्पणी को स्पष्ट करेगा।’

भारतीय मूल की लिबरल सांसद रूबी सहोता ने केनी द्वारा माफी मांगने से इनकार करने को ‘अस्वीकार’ करार दिया। केनी ने हाउस ऑफ कॉमन्स में माफी मांगने की मांग खारिज कर दी। बाद में उन्होंने ट्विटर पर लिखकर समझाया कि उन्होंने उक्त टिप्पणी क्यों की।

केनी ने कहा कि उन्होंने मंत्री का जवाब ‘पूरी तरह से बेतुका’ लगा। भारतीय मूल के एक अन्य सांसद राज ग्रेवाल ने कहा, ‘केनी को प्रश्नकाल के दौरान की गई अपनी उस टिप्पणी के लिए माफी मांगनी चाहिए जो उन्होंने तब की जब हरजीत सज्जन बोल रहे थे।’

केनी ने ग्रेवाल को जवाब देते हुए कहा कि वह सज्जन का ‘एक उत्कृष्ट, बुद्धिमान व्यक्ति’ के तौर पर सम्मान करते हैं। उन्होंने लिखा, ‘दुर्भाग्य से मैंने आईएस के खिलाफ संघर्ष समाप्त करने के बारे में उनके उत्तर अप्रभावशील और बेतुका लगा।’ उन्होंने कहा कि यदि उनकी टिप्पणी को ‘किसी भी तरह से गलत लिया गया’ तो उन्हें इसका खेद है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *