Breaking News

बहुत बड़ी खबर: बीजेपी में शामिल होने वाले हैं नीतीश कुमार…लालू यादव हो गए हैरान !

pic-%e0%a4%a8%e0%a5%80%e0%a4%a4%e0%a5%80%e0%a4%b6-%e0%a4%95%e0%a5%81%e0%a4%ae%e0%a4%be%e0%a4%b0नई दिल्ली। इस वक्त राजनैतिक हलकों से एक बड़ी खबर निकलकर सामने आ रही है। ये खबर बिहार की राजनीति से जुड़ी है और खबर है कि बिहार की राजनीति का एक बहुत बड़ा चेहरा बीजेपी में शामिल हो सकता है। बताया जा रहा है बिहार के सीएम नीतीश कुमार इस वक्त बीजेपी के एक बड़े नेता के संपर्क में हैं और इस बात से ये अंदेशा जताया जा रहा है कि नीतिश जल्द ही बीजेपी में एंट्री कर सकते हैं। अगर ऐसा होता है तो फिलहाल उनके सहयोगी लालू प्रसाद यादव के लिए ये किसी बड़े झटके से कम नहीं है। बताया जा रहा है कि नीतीश की बीजेपी के एक बड़े नेता से बातचीत चल रही है। इससे नीतीश के बीजेपी में शामिल होने की सुगबुगाहटें और चर्चाएं लगातार जोर पकड़ रही हैं। आपको बताते हैं ऐसा क्यों हो रहा है।

दरअसल आपको ये भी याद होगा कि कुछ वक्त पहले नीतीश ने पीएम मोदी के नोटबंदी के फैसले का खुले दिल से स्वागत भी किया था। इस बीच सूत्रों के हवाले से खबर है कि उन्होंने बीजेपी के एक बड़े नेता से मुलाकात की है और पीएम मोदी के नोटबंदी वाले फैसले की एक बार फिर से तारीफ की है। इस बाद को जोर इसलिए भी मिल रहा है कि हाल ही के दिनों में जेडीयू और आरजेडी की बीच तनातनी भी देखने को मिल रही थी। शहाबुद्दीन की रिहाई को लेकर दोनों पार्टियों के बड़े नेताओं के बीच आपसी खींचतान की खबरें भी आम हो गई थी। इस बीच आरजेडी के उपाध्यक्ष और राजनीति के वरिष्ठ चेहरे रघुवंश प्रसाद सिंह तो गाहे-बेगाहे नीतीश पर निशाना साधते भी दिखाई दे रहे हैं। कुल मिलाकर ये बातें नीतीश के बीजेपी मोह की कहानी बयां कर रही हैं।

इस बीच आपको ये भी बता दें कि हाल में ही रघुवंश प्रसाद सिंह ने नीतीश द्वारा की गई निश्चय यात्रा को भी बेकार करार दिया था। उन्होंने इस दौरान कहा था कि यात्रा के दौरान सिर्फ फिजूल की बातों पर ही ध्यान दिया जा रहा है और असल धरातल पर कोई भी काम देखने को नहीं मिल रहा है। इसके साथ ही रघुवंश प्रसाद ने ये भी कहा था कि ये निश्चय यात्रा नहीं बल्कि केवल जेडीयू की यात्रा बनकर रह गई है। नीतीश के बीजेपी में आने की आशंकाओं को तब भी जोर मिलता है, जब उन्होंने नोटबंदी को लेकर पीएम मोदी के फैसले की तारीफ की थी और उनके सहयोग दल के लीडर लालू प्रसाद यादव ने पीएम मोदी के नोटबंदी के फैसले की कड़ी आलोचना करते हुए कहा था कि वो इस पक्ष में बिल्कुल भी नहीं है।

Loading...

आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने नोटबंदी को फर्जिकल स्ट्राइक करार दिया था। ऐसे में राजनीतिक हलकों से खबरें आने लगी थी कहीं लालू और नीतीश की दोस्ती में दरार तो नहीं आ गई है। हालांकि जब नीतीश ने नोटबंदी का समर्थन किया था तो जेडीयू महासचिव केसी त्यागी ने साफ कहा था कि नीतीश कुमार इससे पहले भी 500 और 1000 के नोटों को बैन करने की मांग कर चुके हैं और ये कोई नया फैसला नहीं है। केसी त्यागी ने इसके साथ ही ये भी कहा था कि इस बात से ये अंदाजा लगाना गलत है कि जेडीयू बीजेपी का समर्थन कर रही है। इस बीच अचानक आई इन खबरों में कितनी प्रमाणिकता है, ये कहना तो मुश्किल है लेकिन लग रहा है कि नीतीश का बीजेपी प्रेम एक बार फिर से धीरे-धीरे जाग रहा है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *