Breaking News

शीतकालीन सत्र से पहले पीएम मोदी ने विपक्षी दलों से की अपील, कहा-यह संदेश जाना चाहिए कि राष्ट्रहित के मुद्दों पर सभी दल एक साथ हैं

pm-modi16नई दिल्ली।  अधिक मूल्य वाले नोटों को बंद किए जाने पर विपक्ष की आलोचना के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि संसद को चुनावी वित्त पोषण और एक साथ चुनाव कराने के मुद्दे पर चर्चा करनी चाहिए। सर्वदलीय बैठक के बाद केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार ने मीडियाकर्मियों को जानकारी देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने कहा कि संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान यह संदेश जाना चाहिए कि राष्ट्रहित के मुद्दों पर सभी दल एकसाथ हैं।

अनंत कुमार के मुताबिक प्रधानमंत्री ने सभी दलों से कालाधन, भ्रष्टाचार के मुद्दों पर संसद के भीतर और बाहर सहयोग करने का आग्रह किया।वहीं, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा, ‘हम बड़े नोटों को अमान्य करने के निर्णय को वापस लेने की मांग नहीं कर रहे लेकिन हम बिना तैयारी के और जल्दबाजी में उठाये गए इस कदम के कारण उत्पन्न आर्थिक अफरातफरी के खिलाफ हैं।’

इससे पहले, कांग्रेस के साथ आज विपक्षी दलों ने बुधवार से शुरू होने वाले संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान सरकार को बड़े नोटों को अमान्य करने के उसके कदम पर घेरने की रजामंदी व्यक्त की हालांकि इस मुद्दे पर तृणमूल कांग्रेस के राष्ट्रपति से मुलाकात के लिए राष्ट्रपति भवन मार्च के प्रस्ताव पर सहमति नहीं बन सकी।

इस मुद्दे पर कल इन नेताओं की फिर बैठक होगी ताकि इस बारे में रणनीति को अंतिम रूप दिया जा सके। इस बारे में बैठक में संयुक्त संसदीय समिति के गठन की मांग समेत सभी संसदीय उपायों का उपयोग करने और सरकार को जवाबदेह ठहराने पर सहमति बनी।

Loading...

अपनी ओर से तृणमूल कांग्रेस प्रमु़ख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि उनकी पार्टी कल राष्ट्रपति से मुलाकात करने की योजना को आगे बढ़ायेगी।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *