Breaking News

भारत में कोरोना के नए स्ट्रेन से अबतक 25 लोग संक्रमित, दिल्ली में बढ़ी संदिग्धों की संख्या

नई दिल्ली। भारत में ब्रिटेन से फैले कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन के मामले बढ़ते जा रहे हैं। अबतक देश में इससे 25 लोग संक्रमित हो चुके हैं। पांच और लोगों में नया स्ट्रेन की पुष्टि के बाद यह आंकड़ा 20 से 25 हो गया है। NIV, पुणे से चर नए मामलें तो दिल्ली में 1 एक मामला सामने आया है। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के मुताबिक, 25 लोगों को दिल्ली में आइसलोशन में रखा गया है।

इन मामलों में अकेले राजधानी दिल्ली में 8 लोग संक्रमित हुए हैं। न्यूज एजेंसी आइएनस पर आई ताजा जानकारी के मुताबिक, दिल्ली में यूके से लौटे लोगों में से तीन लोगों में नए स्ट्रेन का संदेह जताया गया है।बुधवार को संदिग्ध मरीजों की संख्या 38 पहुंच गई। तीनों नए संदिग्ध लोगों को लोक नायक जय प्रकाश अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

सबसे  पहले भारत में दर्ज किए गए थे 6 मामले 

रिपोर्ट के मुताबिक, इससे पहले मंगलवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने विभिन्न राज्यों में छह लोगों के नए स्ट्रेन से संक्रमित होने की जानकारी दी थी। इन मामलों के बाद ही 14 और लोगों के नए स्ट्रेन से संक्रमित होने की पुष्टि हुई थी। स्वास्थ्य मंत्रलय के अनुसार, 25 नवंबर से 23 दिसंबर के बीच ब्रिटेन से 33 हजार यात्री भारत आए हैं। इनमें से 114 लोग संक्रमित पाए गए। इनके सैंपल जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए सरकारी प्रयोगशालाओं को भेजे दिए गए हैं।

Loading...

7 जनवरी तक ब्रिटेन आने-जाने वाले विमानों पर अस्थायी प्रतिबंध

रिपोर्ट के मुताबिक, नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल (NCDC) में आठ नमूने, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ बायोमेडिकल जीनोमिक्स (NIBMG) कल्याणी (कोलकाता के पास) में एक, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (NIV), पुणे में एक, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेंटल  हेल्थ एंड न्यूरो-साइंसेज हॉस्पिटल (NIMHANS) बेंगलुरु में सात, हैदराबाद स्थित कोशिका एवं आणविक जीवविज्ञान केंद्र (CCMB) में दो, दिल्ली के इंस्टीट्यूट ऑफ जीनोमिक्स एंड इंटीग्रेटिव बायोलॉजी (IGIB) में एक सैंपल में कोरोना का नया स्ट्रेन पाया गया है। इन लोगों को कोरोना केयर सेंटर में सिंगल रूम आइसोलेशन में रखा गया है। इस बीच ब्रिटेन से आने-जाने वाले विमानों पर 7 जनवरी तक अस्थायी प्रतिबंध लगा दिया गया है

 

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *