Breaking News

टॉफी का लालच देकर अकरम और आसिफ ने 7 साल की बच्ची के साथ किया गैंगरेप, खून से लथपथ छोड़ भागे: दोनों गिरफ्तार

मुजफ्फरनगर/लखनऊ। मुजफ्फरनगर के कोतवाली क्षेत्र स्थित एक गाँव में एक 7 वर्ष की बच्ची के साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया गया। बच्ची के साथ आसिफ और अकरम नामक गाँव के ही दो युवकों ने गैंगरेप किया। जब पीड़ित बच्ची दर्द के कारण चीखने-चिल्लाने लगी, तो दोनों ही आरोपित उसे वहाँ उसी अवस्था में छोड़ कर भाग गए। मुजफ्फरनगर पुलिस ने गढ़ी सखावतपुर स्टैंड से दोनों ही आरोपितों को धर-दबोचा है, जिसके बाद आगे की कार्रवाई की जा रही है।

पीड़िता को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। ये घटना बुढ़ाना क्षेत्र के जोला गाँव की है। बच्ची शुक्रवार (दिसंबर 11, 2020) की शाम को अपने साथियों के साथ खेल रही थी। तभी इन दोनों आरोपितों ने किसी बहाने से उसे अपने पास बुलाया और फिर अपने परिवार की ही एक मकान की छत पर लेकर चले गए। वहाँ इन दोनों ने मासूम बच्ची के साथ बलात्कार किया। शोर मचाने के बाद बच्ची वहीं पर बेहोश हो गई, जिसके बाद वे भाग निकले।

बच्ची के चीखने-चिल्लाने की आवाज़ सुनने के बाद अन्य ग्रामीण और उसके परिजन भी उस मकान की छत पर पहुँचे। उसकी गंभीर हालत देख कर त्वरित रूप से पुलिस को सूचित किया गया। इंस्पेक्टर एमएस गिल तुरंत अपनी टीम के साथ घटनास्थाल पर पहुँचे और बच्ची को CHC (सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र) में इलाज के लिए भर्ती कराया। जब हालत गंभीर हुई तो उसे जिला अस्पताल लेकर जाया गया।

उसी रात पीड़ित परिजनों की तहरीर के आधार पर FIR दर्ज कर के पुलिस ने दोनों आरोपितों आसिफ और अकरम की गिरफ़्तारी के लिए दबिश देनी शुरू कर दी। लेकिन, इन दोनों का कोई सुराग नहीं मिला। फिर उनकी गिरफ़्तारी के लिए यूपी पुलिस ने टीम गठित की। अंततः मेरठ-करनाल हाईवे पर स्थित गढ़ी सखावतपुर स्टैंड से उन्हें धर-दबोचा गया। मुजफ्फरनगर पुलिस ने बताया है कि दोनों आरोपितों को जेल भेज दिया गया है।

बताया गया है कि इन दोनों ने टॉफी का लालच देकर बच्ची के साथ गैंगरेप किया था। जब ग्रामीणों और परिजनों ने बच्ची को देखा तो वो खून से लथपथ थी और एकदम बदहवास अवस्था में थी। बच्ची ने परिजनों को अपने साथ हुई दरिंदगी के बारे में किसी तरह बताया भी। बुढ़ाना के सीओ गिरिजा शंकर त्रिपाठी ने बताया है कि आरोपितों के खिलाफ पॉस्को एक्ट सहित अन्य गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है और उन्हें जल्द ही कोर्ट से सज़ा दिलाई जाएगी।

बता दें कि उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में ‘ग्रूमिंग जिहाद’ (लव जिहाद) का मामला भी सामने आया था। यहाँ मंसूरपुर थाने में उत्तराखंड राज्य के दो युवकों के खिलाफ उत्तर प्रदेश विधि विरुद्ध धर्म संपरिवर्तन प्रतिषेध कानून-2020 के तहत FIR दर्ज की गई थी। आरोप है कि दोनों युवकों ने साजिश के तहत विवाहित महिला का जबरन धर्म परिवर्तन कराने का प्रयास किया। नए कानून के तहत मुजफ्फरनगर जिले में यह पहली FIR थी।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *