Breaking News

भारत को उम्‍मीद, इस साल के आखिर तक मसूद अजहर घोषित हो जाएगा ग्‍लोबल टेररिस्‍ट

masood-azharन्‍यू यॉर्क। भारत ने उम्‍मीद जताई है कि वह पठानकोट हमले के मास्‍टरमाइंड और आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्‍मद के सरगना मसूद अजहर को इस साल के आखिर तक अंतरराष्‍ट्रीय आतंकवादी घोषित करवा लेगा। साथ ही भारत ने यह भी कहा है कि वह मसूद के खिलाफ अपने प्रस्‍ताव को उसके आखिरी अंजाम तक पहुंचाने की कोशिश जारी रखेगा। संयुक्‍त राष्‍ट्र (यूएन) में भारत के ऐंबैसडर और स्‍थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने बताया कि भारत इस मुद्दे पर धैर्यपूर्वक काम कर रहा है और इस बारे में सभी विकल्‍पों पर विचार कर रहा है।

इंडिया टुडे से खास बातचीत में अकबरुद्दीन ने कहा, ‘हम संयुक्‍त राष्‍ट्र के कई देशों के साथ धैर्यपूर्वक लेकिन लगातार काम कर रहे हैं। हमें आशा है कि सदस्‍य देशों के सहयोग से हम अपने लक्ष्‍य को हासिल करने में कामयाब होंगे। यह लक्ष्‍य है उस संगठन की अगुवाई करने वाले शख्‍स को अंतरराष्‍ट्रीय आतंकवादी घोषित करवाने की जिसे पहले ही आतंकवादी संगठन घोषित किया जा चुका है। हम आधा रास्‍ता तय कर चुके हैं और हमें आशा है कि जल्‍द ही हम अपने मुकाम को हासिल कर लेंगे।’

बता दें कि भारत ने पठानकोट हमले के बाद इस साल की शुरुआत में संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद में एक प्रस्‍ताव के जरिए मसूद को ग्‍लोबल टेररिस्‍ट घोषित करवाने की मांग की थी। लेकिन पाकिस्‍तान के हर मौसम दोस्‍त चीन ने बिना कोई वजह बताए इसमें अड़ंगा लगा दिया था। चीन ने दूसरी बार ऐसा किया था। इस प्रस्‍ताव को दूसरे कई सदस्‍य देशों का समर्थन हासिल है लेकिन चीन के वीटो की वजह से इसमें अड़ंगा लग गया। अब इस साल दिसंबर में इस पर चीन की तरफ से लगाई गई रोक खत्म हो जाएगी। तब चीन को या तो भारत के इस कदम को समर्थन देना होगा या फिर वह अपने वीटो पावर के जरिए इसे रोक सकता है।
अकबरुद्दीन ने कहा कि इस साल के अंत तक इस बारे में प्रगति के आसार हैं क्‍योंकि मसूद का संगठन जैश-ए-मोहम्‍मद पहले से ही अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर प्रतिबंधित आतंकवादियों की सूची में शामिल है और भारत अपनी कोशिशों को अंजाम तक पहुंचाकर ही दम लेगा।

Loading...

अकबरुद्दीन ने कहा, ‘शुरुआत में उन्‍होंने तकनीकी आधार पर छह महीने के लिए इस पर रोक की मांग की थी और फिर अगले तीन महीने के लिए इस रोक दिया। तीन महीने की यह रोक इस साल के अंत में खत्‍म हो रही है और हमें आशा है कि तकनीकी कारणों को लेकर उन्‍होंने जो भी स्‍पष्‍टीकरण मांगा है, उसे पूरा कर दिया गया है। नए साल पर हमें इस आतंकवादी को अंतरराट्रीय स्‍तर का आतंकवादी घोषित करवाने का तोहफा मिल सकता है।’

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *