Breaking News

गेम स्पिरिट पर भारी रूल : U19 WC में वेस्ट इंडीज ने जीता मैच, पर हारा दिल

wes-u19चटगांव। वेस्ट इंडीज ने अंडर-19 वर्ल्ड के एक मुकाबले में एक विवादित रन आउट की मदद से जिम्बाब्वे को दो रन से हराकर टूर्नामेंट के क्वॉर्टर फाइनल में जगह बना ली। लेकिन गेम स्पिरिट को दरकिनार कर रन आउट करने के चलते वेस्ट इंडीज टीम की जबरदस्त किरकिरी हो रही है। बता दें कि वेस्ट इंडीज टीम के ही फास्ट बॉलर कोर्टनी वॉल्श ने 1987 के वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ खेल भावना दिखाते हुए पाकिस्तानी बैट्समैन को रन आउट नहीं किया था। उसकी वजह से वेस्ट इंडीज वर्ल्ड कप से बाहर हो गया था।
क्या है विवाद…
– जिम्बाब्वे की पारी के 49th ओवर की आखिरी बॉल पर जिम्बाब्वे को जीत के लिए दो रन चाहिए थे।
– बॉलर कीमो पॉल ने बॉल फेंकने की बजाय नॉन स्ट्राइकर एंड पर स्टम्प्स गिरा दिए।
– दरअसल, उस समय नॉन स्ट्राइकर बैट्समैन आर. एनगरावा पूरी तरह क्रीज से बाहर तो नहीं थे, लेकिन उनका बैट लाइन पर था।
– पॉल ने जब रन आउट की अपील की तो दोनों ग्राउंड अंपायरों ने फैसला तीसरे अंपायर पर छोड़ दिया।
– रूल के अनुसार बैट का कुछ हिस्सा लाइन से अंदर होना चाहिए था।
– वेस्ट इंडीज ने इस तरह यह मुकाबला जीतकर क्वार्टर फाइनल में जगह बना ली।
– इस रन आउट ने खेल भावना को लेकर फिर से नई बहस छेड़ दी है।
बुरी तरह टूट गई जिंबाब्वे की टीम
– जिम्बाब्वे की टीम का दिल इस हार के बाद बुरी तरह टूट गया और उसके खिलाड़ी हताशा में मैदान पर बैठ गए।
मैच के हाइलाइट्स…
– वेस्ट इंडीज ने 9 विकेट पर 226 रन बनाए। शामर स्प्रिंगर ने सर्वाधिक 61 रन बनाए।
– जवाब में जिम्बाब्वे ने अच्छी शुरुआत की और 7 विकेट पर 217 रन बना लिए।
– उसकी जीत आसान दिख रही थी कि 224 रन तक उसके दो और विकेट गिर गए।
– अब उसको जीत के लिए दो रन बनाने थे, जबकि एक विकेट बचा था।
– अंतिम बॉल पर विवादित रन आउट से जिम्बाब्वे 224 रन ही बना सकी।
– जिम्बाब्वे के लिए शान स्नाइडर ने 52, एडम कीफे ने 43 औरे जैरेमी इवेस ने 37 रन बनाएए।
– मैन ऑफ द मैच अलजारी जोसफ ने 30 रन पर 4 विकेट लिए।
ये पूरी तरह गलत है, मुझे अफसोस है : डोमिनिक कोर्क
– इंग्लैंड के पूर्व फास्ट बॉलर डोमिनिक कोर्क ने कहा, “अंडर-19 क्रिकेट में यह सब नहीं होना चाहिए। मैं कभी नहीं चाहूंगा कि मेरी टीम इस तरह जीते। मुझे जिम्बाब्वे के लिए अफसोस है।”
जीत के लिए सब कुछ सही: इयान बिशप
इस मामले को लेकर वेस्ट इंडीज के इयान बिशप ने कहा, “हमें भावनाओं को मैदान के बाहर छोड़ना होगा। यह सब नियमों के अनुसार है और हमें नियमों के हिसाब से चलना होगा।”
क्या हुआ था 1987 में?
– वर्ल्ड कप-1987 में वेस्ट इंडीज के दिग्गज फास्ट बॉलर वाल्श आखिरी ओवर डाल रहे थे।
– पाकिस्तान को 6 बॉल में 14 रन चाहिए थे। वाल्श जब आखिरी बॉल डालने जा रहे थे तब पाकिस्तान को दो रन चाहिए थे।
– वाल्श जब बॉलिंग क्रीज पर पहुंचे तो सलीम जाफर नॉन स्ट्राइकर छोर से बाहर थे।
– वाल्श अपने रनअप पर रूके, लेकिन उन्होंने जाफर सिर्फ एक चेतावनी देकर वापस बॉलिंग के लिए चले गए।
– अंतिम बॉल पर अब्दुल कादिर ने जरूरी दो रन बनाए और पाकिस्तान वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में पहुंच गया और वेस्ट इंडीज बाहर हो गया।
– वाल्श को उनकी इस खेल भावना के लिए तत्कालीन पाकिस्तानी शासक जियाउल हक ने अपने देश बुलाकर सम्मानित किया था।
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *