Breaking News

बिहारः मुजफ्फरपुर में महिला इंजीनियर को कुर्सी से बांधकर जिंदा जलाया

mujjafarpurमुजफ्फरपुर। बिहार के मुजफ्फरपुर में मनरेगा में जेई के पद पर तैनात एक महिला अफसर को कुर्सी के साथ जिंदा जलाने का मामला सामने आया है। महिला का नाम सरिता देवी बताया जा रहा है। पुलिस ने मौके से एक जोड़ी चप्पल बरामद की है, जिससे उसकी पहचान की गई।
यह घटना मुजफ्फरपुर जिला के अहियापुर थाना क्षेत्र के कोल्हुआ बजरंग विहार कॉलोनी के एक निर्माणाधीन मकान की है। जानकारी के मुताबिक, रविवार देर रात मुरौल में पदस्थापित मनरेगा जेई सरिता देवी को कुर्सी से बांध कर जिंदा जला दिया गया। स्थानीय लोगों की सूचना के बाद सोमवार सुबह दारोगा विश्वमोहन चौधरी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे।
पुलिस ने घटनास्थल से एक जोड़ी चप्पल, हड्डी के अवशेष के अलावा सुसाइड नोट सहित अन्य सामान बरामद किया है। मौके से मिली चप्पल व कपड़ा के अवशेष के आधार पर मृतका की मां कुसुम देवी ने शव की पहचान की है। सोमवार की रात एसएसपी विवेक कुमार ने घटनास्थल पर पहुंचने के बाद निर्माणाधीन मकान को सील कर दिया है।
आपको बता दें कि सरिता देवी मूल रूप से सीतामढ़ी के कन्हौली फुलकाहां की रहने वाली थी। वह कोल्हुआ में ही किराए का मकान लेकर अपने छोटे बेटे आर्यन के साथ रहती थी। पुलिस मकान मालिक विजय गुप्ता से पूछताछ कर रही है। देर रात तक नगर डीएसपी आशीष आनंद के नेतृत्व में विशेष टीम पूरे मामले को सुलझाने में जुटी थी।
जानकारी के अनुसार, सरिता देवी की शादी नेपाल बॉर्डर पर कन्हौली फूलकाहां निवासी विजय सिंह नायक से हुई थी। उसके दो बेटे हैं। पति गांव में ही रहता है। सरिता और उसके पति के बीच संबंध बेहतर नहीं बताए जा रहे हैं। सरिता का बड़ा बेटा ध्रुव दरभंगा पॉलिटेक्निक में पढ़ता है। सरिता देवी तीन साल से मुरौल प्रखंड में जेई के पद पर कार्यरत थी। वह बजरंग विहार कॉलोनी में रहती थी। वह मकान गरम चौक निवासी विजय कुमार गुप्ता का है।
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *