Breaking News

पाकिस्तान के क्वेटा में आतंकी हमला, 3 आतंकी ढेर, 60 लोगों की मौत

quettaकराची। पाकिस्तान के अशांत बलूचिस्तान प्रांत की राजधानी क्वेटा स्थित पुलिस ट्रेनिंग सेंटर पर सोमवार रात आतंकियों ने बड़ा हमला कर दिया। पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हमले में 60 पुलिस ट्रेनी और अफसरों की मौत हो गई। 116 लोग घायल भी हो गए। हालांकि, पाकिस्तानी सेना और फ्रंटियर कॉन्सटैबुलरी ट्रूप्स ने करीब 250 लोगों को सुरक्षित बचा लिया। जब आतंकियों ने हमला बोला, उस वक्त परिसर में 500 से ज्यादा कैडेट्स मौजूद थे। यह ट्रेनिंग कॉलेज क्वेटा के सबसे संवेदनशील इलाके में गिने जाने वाले सरयाब रोड पर स्थित है। इस पर 2006 और 2008 में भी हमला हो चुका है।

पाक सेना और सुरक्षा बलों ने जवाबी कार्रवाई में तीन आतंकियों को मार गिराया। बलूचिस्तान के गृह मंत्री मीर सरफराज बुगती ने मंगलवार सुबह इस बात की पुष्टि की कि आतंकियों के खिलाफ मिशन पूरा हो चुका है। बलूचिस्तान में फ्रंटियर कोर के IG शेर अफगान ने बताया कि आतंकी अफगानिस्तान में अपने हैंडलर्स के संपर्क में थे। IG के मुताबिक, सभी आतंकी लश्कर-ए-जांघवी से जुड़े हैं। यह संगठन पाकिस्तानी तालिबान से जुड़ा हुआ है। हालांकि, पाकिस्तान तालिबान ने फिलहाल हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सभी आतंकियों ने सूइसाइड जैकेट्स पहन रखे थे। सेंटर के हॉस्टल पर आतंकियों ने सोमवार रात 10 बजे हमला बोला। बताया जा रहा है कि आतंकियों के पास एके 47 और ग्रेनेड थे।आतंकियों ने पहले वॉच टावर के संतरी को निशाना बनाया। संतरी की हत्या के बाद वे फायरिंग करते हुए अकादमी के ग्राउंड में घुस गए। दो आतंकियों ने खुद को धमाके से उड़ा लिया, जबकि तीसरे को सुरक्षाबलों ने धमाका करने से पहले गोली मार दी। आतंकियों और सुरक्षाबलों बीच पूरी रात रुक-रुक कर फायरिंग होती रही। आतंकियों के परिसर में एंट्री के बाद कम से कम 5 धमाकों की आवाज सुनी गई। पहले खबर आई थी कि आतंकियों ने कुछ लोगों को बंधक भी बना लिया था।

Loading...

इससे पहले, अगस्त महीने में क्वेटा के अस्पताल में हुए आत्मघाती धमाके में 73 लोगों की मौत हो गई थी। इस्लामिक स्टेट और पाकिस्तान तालिबान ने इस हमले की जिम्मेदारी ली थी। मारे जाने वाले लोगों ने शहर के बहुत सारे वकील भी शामिल थे। ये लोग अपने एक सहकर्मी की गोली मारकर की गई हत्या के प्रति विरोध जताने के लिए इकट्ठे हुए थे। ताजा हमला ऐसे वक्त में हुआ है, जब एक दिन पहले ही बलूच लिब्रेशन आर्मी के लोगों ने कथित तौर पर सुदूर दक्षिण पश्चिमी इलाके में दो कोस्ट गार्ड और एक नागरिक की गोली मारकर हत्या कर दी।

बलूचिस्तान प्रांत पाकिस्तान और चीन के सहयोग से विकसित हो रहे सीपीईसी (चाइना पाकिस्तान इकॉनमिक कॉरिडोर) में आता है। पाकिस्तान यह आरोप लगाता रहा है कि भारत इस इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रॉजेक्ट के खिलाफ साजिश के तहत आतंकी घटनाओं को बढ़ावा दे रहा है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *