Thursday , November 26 2020
Breaking News

पाकिस्तान ने शायद मोदी के पक्ष में बोलने के कारण नहीं दिया मुझे वीजाः अनुपम खेर

anupam-kher3नई दिल्ली। बॉलिवुड ऐक्टर अनुपम खेर ने पाकिस्तानी उच्चायोग के उस दावे को सिरे से खारिज किया है, जिसमें कहा जा रहा है कि खेर ने वीजा के लिए आवेदन ही नहीं किया था।

कराची में पांच फरवरी से शुरू हो रहे साहित्य फेस्टिवल के लिए वीजा न दिए जाने से भड़के अनुपम खेर मंगलवार शाम को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में दस्तावेजों के साथ सामने आए। खेर ने कहा कि पाकिस्तान ने उन्हें शायद इसलिए वीजा नहीं दिया, क्योंकि वह कश्मीरी पंडित हैं या फिर मोदी के पक्ष में बोलते रहे हैं।

अनुपम खेर ने कहा कि फेस्टिवल में बुलाए गए 18 लोगों में से 17 लोगों को वीजा दिया गया, जबकि केवल उनका वीजा खारिज कर दिया गया। अनुपम खेर ने कराची साहित्य सम्मेलन के अधिकारियों और उनके सहयोगी अशोक के बीच मेल पर की गई बातचीत के आधार पर पाकिस्तानी उच्चायोग के दावे खारिज किए।

अनुपम खेर ने वे मेल दिखाए, जो पाकिस्तान से आया था और जिसमें पाकिस्तान उच्चायोग के संपर्क अधिकारियों के नाम और नंबर थे। यह मेल 13 जनवरी को आया था। उन्होंने बताया कि उनके सहयोगी अशोक से कहा गया था कि साहित्य फेस्टिवल के अधिकारी लगातार पाकिस्तानी उच्चायोग के संपर्क में थे।

अनुपम खेर ने दावा किया कि इस बीच दूसरे लोगों के वीजा अप्रूव होते रहे, लेकिन जब उनके नाम की बारी आई तो पाकिस्तानी उच्चायोग ने क्लियरेंस का मुद्दा उठा दिया। खेर के मुताबिक इसके बावजूद साहित्य फेस्टिवल के अधिकारियों ने उन्हें वीजा के लिए आश्वस्त किया।

Loading...

अनुपम खेर ने कहा कि साहित्य सम्मेलन के लिए जो पोस्टर लगाए गए थे, उनमें उनकी तस्वीर भी थी। इसके अलावा उनके लिए पाकिस्तान में होटल भी बुक करा दिया था। खेर ने दावा किया कि साहित्य फेस्टिवल वालों को वहां साफ निर्देश दे दिया गया कि उन्हें छोड़ कर बाकी सबको बुलाया जाए।

अनुपम खेर ने सवाल उठाया कि क्या बाकी के 17 लोग इस मामले पर आवाज उठाएंगे। उन्होंने कहा कि वीजा पाए लोगों में से अबतक किसी ने भी उनसे संपर्क नहीं किया है।

अनुपम खेर ने कहा कि पाकिस्तान से अच्छे संबंधों के लिए शुरू किए गए प्रयास के नाते वे जाना चाहता था। उन्होंने कहा कि कराची साहित्य महोत्सव की अथॉरिटी ने सारे क्लियरेंस भारत भेज दिए थे। बाद में पाकिस्तानी उच्चायोग ने कहा कि क्लियरेंस का कुछ इशू है। उन्होंने कहा कि पिछले 15 दिन से मैंने वीजा के पेपर रेडी कर रखे हैं।

साहित्योत्सव की सह-संस्थापक अमीना सैयद ने टाइम्स नाउ के साथ बातचीत के दौरान इस पर दुख प्रकट किया है। अमीना ने कहा कि इस वजह से पाकिस्तान के लोगों में भी निराशा हुई है।

अमीना ने भी पुष्टि की है कि जब उन्होंने पाकिस्तानी उच्चायोग से अनुपम खेर का वीजा जारी करने को कहा तो उन्होंने इनकार कर दिया। उच्चायोग ने अमीना से कहा कि क्लियरेंस के मसले की वजह से वीजा नहीं जारी किया जा सकता।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *