Breaking News

सायरस मिस्‍त्री को टाटा ग्रुप के चेयरमैन पद से हटाया गया, रतन टाटा बने अंतरिम चेयरमैन

ratan-tataनई दिल्‍ली। देश की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक टाटा ग्रुप के चेयरमैन सायरस मिस्‍त्री को सोमवार को पद से हटा दिया गया। उनके बाद अब रतन टाटा कंपनी के अंतरिम चेयरमैन बने हैं।

हालांकि, कुछ मीडिया रिपोर्ट्स का यह भी कहना है कि मिस्‍त्री ने अपने पद से इस्‍तीफा दिया है। टाटा सन्‍स बोर्ड ने चार महीने के लिए रतन टाटा को अंतरिम चेयरमैन नियुक्‍त किया है। इस दौरान कंपनी का सर्च पैनल नए चेयरमैन की तलाश करेगा। नए चेयरमैन की खोज के लिये गठित पैनल में रतन टाटा, वेणु श्रीनिवासन, अमित चंद्र, रोनेन सेन और लॉर्ड कुमार भट्टाचार्य शामिल होंगे।

सायरस मिस्‍त्री के इस्‍तीफे को कॉरपोरेट सेक्‍टर में हालिया दौरे के सबसे बड़े बदलाव के तौर पर देखा जा रहा है। बता दें कि टाटा ग्रुप ने करीब चार साल पहले शापूरजी पालोनजी ग्रुप के एमडी रहे सायरस मिस्त्री को रतन टाटा का उत्तराधिकारी चुना था। मिस्‍त्री ने 29 दिसंबर 2012 को रतन टाटा के बाद चेयरमैन पद संभाला था।
मिस्‍त्री की ताजपोशी से पहले रतन टाटा ने ग्रुप की सभी कंपनियों के शीर्ष पांच-छह अधिकारियों को ईमेल भेजी थी। इसमें उन्‍होंने लिखा था, सायरस पी मिस्त्री दिसंबर 2012 के बाद टाटा ग्रुप में उनकी जगह लेंगे। ईमेल में 74 साल के टाटा ने उम्मीद जताई कि मिस्‍त्री को उनसे वही समर्थन मिलेगा, जो उन्हें मिला है।

Loading...

मिस्‍त्री को रतन टाटा का करीबी माना जाता था। सायरस के साथ करीबी तौर पर काम कर चुके ग्रुप के शीर्ष अधिकारियों ने तब बताया था कि टाटा के साथ उनकी खूब छनती है। सायरस का मिजाज और व्यवहार टाटा जैसा ही है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *