Breaking News

बैठक में रोए अखिलेश और शिवपाल, मुलायम कुछ देर में लेंगे बड़ा फैसला

samajwadi-partyलखनऊ। उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी के भीतर घमासान के बीच सोमवार को सपा दफ्तर में महाबैठक शुरू हो गई। मुलायम सिंह की मौजूदगी में बैठक को संबोधित करते हुए अखिलेश भावुक हो गए। उन्होंने कहा कि यदि नेताजी को लगता है कि मैं ठीक काम नहीं कर रहा हूं और मैं गलत हूं तो बेशक मैं मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दूंगा।

अखिलेश ने कहा, “यदि नेताजी चाहते हैं कि मैं मुख्यमंत्री न रहूं तो मैं इस्तीफा देने को तैयार हूं। लेकिन एक बात बता देना चाहता हूं कि आपके खिलाफ साजिश हो रही है और मैं उसे सफल नही होने दूंगा।”

अखिलेश ने खुले तौर पर अमर सिंह का नाम लेते हुए कहा कि सारी फसाद की जड़ वही हैं। उन्होंने कहा,”जब मुझे प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाया गया तो अमर सिंह आपके यहां तीन घंटें तक बैठे रहे। आप एक बार कहते तो मैं प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे देता।”

मुख्यमंत्री ने कहा कि नेताजी मेरे पिता ही नही गुरु भी हैं। उन्होंने मुझे राजनीति सिखाई है। हमारे खिलाफ लोग साजिश करने में जुटे हुए हैं।

अखिलेश पर आरोप लगाते हुए शिवपाल ने कहा कि अखिलेश अलग पार्टी बनाना चाहते थे. ये बात मैं अपने बेटे की कसम खाकर कहता हूं. मैं गंगा जल हाथ में लेने को तैयार हूं. अखिलेश ने दूसरी पार्टी के साथ मिलकर चुनाव लड़ने को कहा. पार्टी में रामगोपाल यादव की दलाली नहीं चलेगी.

Loading...
वहीं शिवपाल यादव ने कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो हम लोगों को पार्टी से निकालेंगे. नेताजी ने पार्टी को खड़ा करने में काफी संघर्ष किया. आज जहां पार्टी खड़ी है, वो सिर्फ नेताजी की वजह से है. मैंने भी पार्टी के लिए बहुत योगदान दिया है. अनुशासनहीनत बर्दाश्त नहीं की जाएगी. 1972 में हमने पार्टी बनाई. गांवों में साइकिल से प्रचार करते थे. हमने साथ में जेल में समय बिताया. पूरे राज्य में हम साइकिल से घूमे.

इस बीच बैठक में मुलायम सिंह ने कहा कि पार्टी के हालातों को लेकर दुखी हूं. जो अभी उछल रहे हैं, एक लाठी मार दी जाए तो पता नहीं चलेगा. जो अखिलेश के लिए नारा लगा रहे हैं, उन्हें क्या पता हमने क्या लड़ाई लड़ी. नारेबाजी करने वालों को निकाल देंगे. शिवपाल सिंह जनता के नेता हैं. मैं अभी कमजोर नहीं हुआ हूं. मुलायम ने कहा क जो आलोचना नहीं सुन सकता, वो नेता नहीं बन सकता. हमारे एक इशारे पर युवा खड़े हो जाएंगे. ऐसा ना सोचें कि युवा हमारे साथ नहीं है. एक इशारे पर युवा कुछ भी कर देगा.

मुख्तार अंसारी का बचाव करते हुए मुलायम सिंह ने कहा कि मुख्तार का परिवार ईमानदार है. उप-राष्ट्रपति उस परिवार से आए हैं. मैं जानता हूं कि पार्टी टूट नहीं सकती. मुलायम ने अखिलेश को फटकार लगाते हुए कहा कि पद मिलते ही आपका दिमाग खराब हो गया है. क्या जुआरियों और शराबियों की मदद कर रहे हो?

उल्लेखनीय है कि महाबैठक को संबोधित करते हुए अखिलेश का गला भर आया। इस बैठक में मुलायम के अलावा शिवपाल सिंह यादव सहित सभी विधायक, एमएलसी भी मौजूद हैं।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *