Tuesday , March 2 2021
Breaking News

अब रामगोपाल यादव का खलनायक़ी चिट्ठी बम ! सपा का दिवाली से पहले निकल सकता है दिवाला !!

रामगोपाल अपने बेटे को यादव सिंह प्रकरण में CBI के शिकंजे से बचाने के लिए हो सकता है मोदी जी को ख़ुश करने की क़वायद के तहत सपा के दो फाँट कराने का सौदा कर चुके हों

ramgopal-yadava-singhअसली खलनायक है .. रामगोपाल यादव !! मुलायम ने कहा … ‘रामगोपाल पर भरोसा करना महँगा पड़ा’ !!!!
आज से कल तक अखिलेश नयी सपा के राष्ट्रीय व प्रदेश अध्यक्ष घोषित हो सकते हैं… लेकिन साइकिल चिन्ह मिलना मुश्किल गई। यदि मुख्यमंत्री की आज की बैठक में कम लोग आए तो अखिलेश की स्थिति संकट में होगी।
रामगोपाल ने लिखी कार्यकर्ताओं को चिट्ठी कि असली सपा अखिलेश वाली। रामगोपाल ने अपने पत्र में अपील की है कि जीत अखिलेश के पास है और मुलायम वाली सपा से कार्यकर्ता करें किनारा। रामगोपाल ने एक बार को छोड़कर ख़ुद कभी चुनाव नहीं लड़ा और जनता में उनकी कोई पहचान नहीं है… उनकी क्रियाशीलता केवल जेल में बंद नॉएडा के भ्रष्ट इंजीनियर यादव सिंह की बचाने व उनके द्वारा नॉएडा की लूट खसोट तक सीमित रही है। CBI जाँच में उनके सांसद बेटे का नाम फँसा है…यदि मोदी जी ने नहीं बचाया तो जेल जाना तय है। रामगोपाल का अखिलेश का साथ अपने को साफ़ सुथरा दिखाने की कवायत हो सकती है। अखिलेश को यदि अपनी छवि बचाना है तो रामगोपाल जैसे नॉएडा को लूटने वाले स्वार्थी भ्रष्ट लोगों से दूरी बनानी चाहिए। रामगोपाल क्या थे … मुलायम का ही तो सब कुछ दिया है उनके पास..कभी चुनाव लड़ने कि क्षमता न होने पर भी हमेशा राज्यसभा में रखा… बेटे को चुनाव में घपले कराके सांसद भी बनवाया। यदि रामगोपाल मुलायम के नहीं हुए तो अखिलेश के क्या होंगे…अखिलेश को सावधान रहना चाहिए हालाँकि अभी उनका उपयोग शिवपाल/ मुलायम के ख़िलाफ़ ज़रूर कर लें… यही ही कलयुग़ी विकृत राजनीति का चेहरा है… जिसमें पारिवारिक रिश्तों का कोई मतलब नहीं है।
रामगोपाल व आज़म खान का एक मात्र दर्द अमर सिंह की वापसी है… ये वास्तविक अखिलेश हितेषी कभी नहीं हो सकते..अखिलेश को इनसे सावधान रहना चाहिए।
रामगोपाल अपने बेटे को यादव सिंह प्रकरण में CBI के शिकंजे से बचाने के लिए हो सकता है मोदी जी को ख़ुश करने की क़वायद के तहत सपा के दो फाँट कराने का सौदा कर चुके हों। अमर सिंह तो मात्र एक बहाना हो सकता है।
रामगोपाल की उक्त चिट्ठी में अधिकांशतः गंदी भाषा व मुलायम/ शिवपाल के साथ-२ ऊपर बैठे लोगों को व्यभिचारी व भ्रष्ट कहा है…रामगोपाल स्वयं कैसे हैं…नॉएडा के उनके कारनामे सब कुछ बताने के लिए काफ़ी है। यदि आज अखिलेश मुलायम के साथ भी रहना चाहे … रामगोपाल जैसे भ्रष्ट स्वार्थी दुर्गुणी लोग एक नहीं होने देंगे।
बहरहाल कुछ भी कारण हो सपा के दो फाँट तय हैं, जिसमें रामगोपाल जैसे नितान्त स्वार्थी भ्रष्ट लोग खलनायक सिध्द होंगे, जो अंततः अखिलेश को भी एक दिन धोखा देंगे… इसमें कोई शक नहीं। आज अखिलेश द्वारा बुलाई गयी समानांतर विधानमंडल की बैठक है और उससे पहले आज शिवपाल ने भी विधायकों की बैठक बुलाली है ..कल शिवपाल/मुलायम की विधानमंडल की बैठक है। अब पुरानी सपा जैसे जातिवादी, भ्रष्ट, लुटेरे,परिवारवादी लोगों की लंका का विनाश/विघटन तय है …. जो भी होगा उम्मीद है कि प्रदेश के हित में होगा !!!!

Loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *