Saturday , February 27 2021
Breaking News

SP-BSP के आधा दर्जन से अधि‍क नेता BJP में शामि‍ल!

keshavलखनऊ। जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आ रहे हैं उत्तर प्रदेश के राजनैतिक दलों में भगदड़ तेज होती जा रही है। गुरुवार का दिन पूरी तरह दलबदलुओं के नाम रहा। एक ओर जहां दिल्ली में कांग्रेस की तेज-तर्रार ब्राह्मण नेता रीता बहुगुणा जोशी भाजपा में शामिल हुईं तो वहीं दूसरी ओर लखनऊ में सपा और बसपा के करीब आधा दर्जन से अधिक पूर्व विधायकों और अन्य नेताओं ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। दिल्ली में रीता को अमित शाह की मौजूदगी में तो लखनऊ में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य के नेतृत्व में भाजपा ज्वाइन कराई गई।

भाजपा की बढ़ती लोकप्रियता के चलते उत्तर प्रदेश के अन्य दलों को छोड़ने वालों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है। गुरुवार को ही भारी संख्या में जिला पंचायत सदस्यों, पार्षदों और अन्य पार्टी के पदाधिकारियों ने भाजपा में अपनी आस्था दिखाई और सदस्यता ग्रहण की।

अन्य दलों के नेताओं को भाजपा में शामिल करने के मौके पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष केशव मौर्य ने कहा कि राशनकाार्डों से अखिलेश यादव अपनी तस्वीरें हटाएं, वरना बीजेपी इस बात को लेकर चुनाव आयोग से शिकायत करेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश के पिछड़ेपन के लिए वर्तमान सपा सरकार के साथ पिछली मायावती सरकार भी जि‍म्‍मेदार है। अधिकारी सपा सरकार के दबाव में निष्पक्षता से काम नहीं कर रहे हैं। दुर्गा पूजा की प्रतिमा के विसर्जन पर सत्ता की तरफ से पूरी तरह से बीजेपी के कार्यकर्ताओं का उत्पीड़न किया गया, जो गलत है। सत्ता के नशे में सरकार पूरी तरह से अपने विनाश की ओर बढ़ रही है।

गोण्डा जिले से समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक लल्ला भैया इस दौरान सबसे चर्चित चेहरे के रूप में नजर आए। लल्ला भैया को उनकी दबंग छवि के चलते जाना जाता है। उनके ऊपर थाने में घुसकर थानाध्यक्ष को धमकाने और मारपीट करने का आरोप भी है। इसके अलावा जिस दूसरे चेहरे ने सबका ध्यान अपनी ओर खींचा वह भी सपा का था। सीतापुर की रहने वाली सपा के महिला सभा की राष्ट्रीय सचिव नलिनी शुक्ला ने भी भाजपा ज्वाइन की है। नलिनी शुक्ला अपने बोल्ड अंदाज और तेज-तर्रार छवि के लिए जानी जाती हैं।

सपा छोड़ बीजेपी में शामिल हुई नलिनी शुक्ला ने बातों के तीर से सपा को निशाना बनाया। नलिनी शुक्ला ने कहा कि सपा में महिलाओं का सम्मान नहीं है, पूरी तरह से अपमानित करते हैं। वहां के नेता किसी की तकलीफ या काम को नहीं सुनते हैं, आम आदमी सपा से ऊब चुका है। उन्‍होंने कहा कि सपा में महिला नेता को सिर्फ पुराने घरेलू नजरिए से देखा जाता है, जबकि खुद सपा परिवार से भी महिलाएं नेता हैं।

गाजीपुर से एमएलसी विनोद सिंह उर्फ चंचल इसी बार निर्दलीय जीतकर यूपी विधान परिषद पहुंचे थे। हालांकि‍, इनके आने की चर्चा पिछले साल से ही थी, लेकिन किन्हीं कारणों से ये नहीं आए और अब चुनाव के ऐन वक्त पर भाजपाई हो गए।

पुराने भाजपाई रहे पीलीभीत के विनोद तिवारी कई बार राज्यमंत्री रहे हैं। ये अपने दूसरे विधायकी कार्यकाल में मेनका गांधाी से विवाद बढ़ने के बाद भाजपा को छोड़ सपा में शामिल हुए थे। अब अपने दोनों बेटों मुरलीधर तिवारी और अक्षत शिवांग तिवारी के साथ भाजपा में शामिल हो गए हैं।

इसके अलावा ये नेता हुए भाजपाई

– पीलीभीत के समाजवादी युवजन सभा के जिला उपाध्यक्ष सुधांशु मिश्रा ने सपा से इस्तीफा देकर भाजपा की सदस्यता ले ली है।

– महराजगंज के सिसवा से पूर्व विधायक अवनीन्द्र नाथ दुबे भी भाजपाई हो गए।

– सीतापुर से पूर्व एमएलसी राकेश सिंह भी भाजपा में शामिल हुए।

Loading...

– गोंडा के कर्नेलगंज से ही पूर्व ब्लाॅक प्रमुख ममता सिंह भी भाजपा में शामिल हो गई।

– सपा व्यापारी महासभा के राष्ट्रीय सचिव चंद्रकांत पांडे भी सपा छोड़ भाजपा मे शामिल हो गए।

– फर्रूखाबाद से बसपा के पूर्व प्रत्याशी मोहन अग्रवाल ने ज्वाइन की भाजपा।

– फर्रूखाबाद से ही पूर्व प्रत्याशी महावीार सिंह ने अपने को बसपा में घुटन महसूस हो रही थी, बोलते हुए भाजपा की सदस्यता ली।

– फर्रूखाबाद के कांग्रेस के पूर्व प्रत्याशी संजीव मिश्रा ने भी कांग्रेस को अलविदा कहते हुए भाजपा में शामिल हुए।

– फैजाबाद के सपा नेता गिरीश पांडये ने ली भाजपा की सदस्यता।

– फैजाबाद के सपा नेता दयाशंकर मिश्र ने भाजपा को पूर्ण बहुमत से जिताने का वादा करते हुए पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।

-आगरा से भूपेन्द्र उर्फ गोलू नेता सपा का दामन छोड़ते हुए भाजपा में अपनी आस्था दिखाई।

– यूपी के पूर्व आईजी रहे आईपीएस लालजी शुक्ला ने भी केशव प्रसाद मौर्य से मिलकर राजनीतिक पारी खेलने की इच्छा जताई और भाजपा का झंडा थाम लिया।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *