Breaking News

शिवपाल यादव ने की प्रदेश अध्यक्ष पद छोड़ने की पेशकश

shivpal-1लखनऊ। पत्र से बगावती तेवर अपना रहे सपाईयों से राजनीति में अचानक भूचाल आ गया है। और इससे पार्टी के सीनियर लीडर्स की मुसीबतें बढ़ने लगी हैं। हालांकि सपा सुप्रिमों पार्टी में हो रहे डैमज को कंट्रोल करने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन वो काफी नहीं हैं। चाचा शिवपाल को भी यहां मेहनत करनी पड़ रही है और ताजा जानकारी के मुताबिक उन्होंने अपना प्रदेश अध्यक्ष पद छोड़ने की पेशकश भी कर दी है।
गौरतलब है कि हाल ही में पार्टी के विधायक और सीएम अखिलेश के करीबी उदयवीर सिंह ने सपा मुखिया को पद लिख अखिलेश से प्रदेश अध्यक्ष का पद छीनने का विरोध किया था। साथ ही ये मांग की थी कि मुलायम अपना राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद छोड़े और अखिलेश को सौपें। इसे हालांकि अखिलेश ने भी सही नहीं ठहराया था।
बहरहाल शिवपाल ने आज जिलाध्यक्षों संग मीटिंग की जहां उनका जोरदार स्वागत हुआ। मीटिंग में ही में ही उन्होंने सभी से पूछा कि मुझसे अगर किसी को दिक्कत है तो मैं अध्यक्ष पद छोड़ने के लिए तैयार हूं।
सपा प्रदेश अध्यक्ष ने एक बार फिर सीएम चेहरे पर से पर्दा हटाते हुए कहा कि अखिलेश यादव ही 2017 चुनाव में सीएम चेहरा होंगे। इस बात को मैं स्टाम्प पर लिख कर देने के लिए तैयार हूं।
शिवपाल यादव ने 5 नवम्बर को होने वाले रजत जयंती कार्यकम को सफल बनाने के लिए सभी नेताओं को कमर कसने के लिए कहा।
टूट के कगार पर पहुंच चुकी समाजवादी पार्टी मे हर रोज कलह बढ़ती जा रही है। इस बीच सपा प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने शुक्रवार को जिलाध्यक्षों बैठक बुलाई थी। शिवपाल यादव ने अखिलेश को भी इन बैठकों में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया था। पर इस बैठक में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव शामिल नहीं हो सके। इसके चलते बैठक में मोबाइल फोन ले जाने की भी इजाजत नहीं दी गई है।
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *