Breaking News

कभी पूरा कश्मीर मांगने वाले बिलावल भुट्टो ने किया ट्वीट, युद्ध नहीं शांति चाहिए

bilawalbhuttoइस्लामाबाद। एक समय था जब पाकिस्तान की पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो के बेटे और पाकिस्तान पीपल्स पार्टी (पीपीपी) के नेता बिलावल ने पूरा कश्मीर मांगा था। पर अब लगता है कि समय बदल गया है। बिलावल भुट्टो ने ट्वीट कर कहा है कि भारत-पाकिस्तान के बीच युद्ध नहीं शांति चाहिए। उन्होंने सीरिया युद्ध पर बना एक विडियो ट्वीट करते हुए लिखा है कि पाकिस्तान और भारत दोनों देखें कि युद्ध कैसा होता है। बिलावल ने यह भी कहा है कि कश्मीर समस्या का हल सेना से नहीं निकाला जा सकता।

गौरतलब है कि उड़ी हमले के बाद भारतीय सेना ने एलओसी पार कर सर्जिकल स्ट्राइक की थी। इसके बाद भारत और पाकिस्तान के बीच काफी तनाव का माहौल है। सरहद पर दोनों सेनाएं आमने-सामने हैं। LoC पर रुक-रुक कर फायरिंग भी जारी है। ऐसे तनाव भर मौके पर पीपीपी लीडर बिलावल का यह ट्वीट काफी अहम है।

बिलावल ने विडियो ट्वीट करने के अलावा एक और ट्वीट किया। इसमें उन्होंने लिखा कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि नॉन स्टेट ऐक्टर क्या कर रहे हैं, कोई फर्क नहीं पड़ता कि मीडिया क्या चाहता है, कोई फर्क नहीं पड़ता कि नेता क्या कहते हैं, भारत और पाकिस्तान के लोग शांति चाहते हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बिलावल सोमवार को पाकिस्तानी पीएम नवाज शरीफ की ऑल पार्टी मीटिंग में भी उपस्थित थे। रिपोर्ट्स के मुताबिक बिलावल ने शरीफ की आलोचना करते हुआ यह भी कहा कि कश्मीर मुद्दे का हल सेना से नहीं हो सकता। बिलावल ने शरीफ की विदेश नीति की आलोचना करते हुए कहा कि उन्होंने दुश्मनी का माहौल बना दिया है।

इंटरनैशनल बिजनस टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक बिलावल ने कहा कि उनके नाना जुल्फिकार अली भुट्टो ने भारतीय कब्जे से न केवल अपनी जमीन वापस ली थी बल्कि 1971 के युद्धबंदियों को भी छुड़ाने में सफलता हासिल की थी। उनके मुताबिक यह सब कुछ मुखर कूटनीति और आक्रामक विदेश नीति की वजह से संभव हुआ था।

हालांकि बिलावल के ये दोनों ट्वीट काफी समझदारी भरे हैं, लेकिन 2014 में उन्होंने ऐसी समझदारी नहीं दिखाई थी। तब बिलावल ने कश्मीर पर काफी आक्रामक रुख दिखाया था। बिलावल ने कहा था कि वह पूरा का पूरा कश्मीर हासिल करेंगे क्योंकि कश्मीर पर पाकिस्तान का हक है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *