Thursday , March 4 2021
Breaking News

इकलाख के एक हत्‍यारोपी की मौत, बिसाहड़ा में तनाव से चिंतित सपा सरकार

robinनोएडा/लखनऊ। दादरी के बहुचर्चित बिसाहड़ा कांड में इकलाख की हत्या के आरोप में ग्रेटर नोएडा के लुक्सर जेल में बंद रॉबिन उर्फ रवि (23) की दिल्ली के लोकनायक अस्पताल में मंगलवार रात तकरीबन आठ बजे संदिग्ध परिस्थतियों में मौत हो गई। परिजनों का आराेप है कि पुलिस की बर्बर पिटाई से उसकी मौत हुई है। गांव में भारी तनाव के बीच बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात हैं। इस बीच आज सुबह बिसाहड़ा में ग्रामीणों की पंचायत शुरू होने वाली है। गांव के शिव मंदिर पर ग्रामीण एकत्र हो रहे हैं।

पुलिस के मुताबिक, मुस्लिम बस्ती में पीएसी के जवान पैट्रोलिंग कर रहे हैं। मुस्लिम परिवार के घरों पर भी पीएसी तैनात कर दी गई है। स्कूलों में छुट्टी कर दी गई है। बताया जा रहा है कि थोड़ी देर में रॉबिन का शव आने की सूचना है। पुलिस ने गांव में शव पहुंचने पर तनाव की आशंका जताई है। वहीं, गांव में बवाल की आशंका से प्रदेश की समाजवादी सरकार चिंतित है और पूरे मामले पर नजर बनाए हुए हैं।

उधर, मृतक युवक के परिजन का आरोप है कि पुलिस की पिटाई से ही उसकी जान गई। रवि को ग्रेटर नोएडा स्थित लुक्सर जेल से दिल्ली के अस्पताल में इलाज के लिए लाया गया था।

लोकनायक अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक जेसी पासी के अनुसार रवि को मंगलवार सुबह 10 बजे अस्पताल लाया गया था। उसे तेज बुखार था। वह पहले से किडनी की बीमारी से ग्रस्त था। किडनी फेल होने से मौत हुई है। रवि को सांस की भी बीमारी थी। डायबिटीज भी थी। मौत के बाद डेंगू की जांच के लिए खून का नमूना भेजा गया है।

शव का आज पोस्टमार्टम होगा। रवि के परिजन का आरोप है कि कुछ दिन पहले जेल में रवि की पिटाई की गई थी। इससे रवि बीमार पड़ गया था। जेल प्रशासन ने नियमित तरीके से उसका इलाज नहीं कराया। इस कारण उसकी मौत हुई।

जिलाधिकारी एनपी सिंह ने मामले की मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश देते हुए तत्काल जेल प्रशासन से रिपोर्ट मांगी है। वहीं लुक्सर जेल अधीक्षक एमएल यादव ने मारपीट की घटना से इन्कार करते हुए कहा कि रवि की मौत फेफड़ों में संक्रमण के कारण हुई है।

मौत की सूचना पर बिसाहड़ा गांव में आक्रोश

Loading...

रवि की मौत की सूचना गांव पहुंचने पर लोगों में आक्रोश फैल गया। धरने पर बैठी महिलाएं जोर-जोर से रोने और चिल्लाने लगीं। प्रदेश सरकार विरोधी नारे लगे। परिजन ने प्रदेश सरकार के मंत्री आजम खां पर रवि को जेल में मरवाने की साजिश का आरोप लगाया। ग्रामीणों ने किसी को भी गांव में घुसने नहीं दिया।

वहीं, रवि की मौत के बाद पुलिस प्रशासन सतर्क हो गया और गांव में भारी पुलिस बल भेजा गया, लेकिन ग्रामीणों ने पुलिस बल को बाहर ही रोक दिया।

जेल प्रशासन के अनुसार, 15 दिन से बीमार था रवि

जेल प्रशासन का कहना है कि रवि पिछले पंद्रह दिन से बीमार चल रहा था। जेल अस्पताल में उसका इलाज कराया जा रहा है। स्थिति न सुधरने पर सोमवार को उसे जिला अस्पताल भेजा गया। वहां उसका अल्ट्रासाउंड किया गया था। अल्ट्रासाउंड की रिपोर्ट में फेफड़ों में संक्रमण फैलने व पानी आने की बात सामने आई।

दवा दिलाने के बाद शाम को रवि को वापस जेल लाया गया। मंगलवार सुबह रवि को उल्टी आई और उसके पेट में दर्द हुआ। इसके बाद जेल प्रशासन ने उसे जिला अस्पताल भेज दिया। वहां से दिल्ली रेफर कर दिया। याद रहे कि बिसाहड़ा गांव में इकलाख की 28 सितंबर 2015 को पीट-पीट कर हत्या कर दी गई थी। इसमें रवि समेत 18 लोगों को आरोपी बनाया गया था। दो को जमानत मिल चुकी है। गांव के 16 लोग अभी जेल में बंद है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *