Breaking News

सर्जिकल स्ट्राइक में ईरान ने की भारत की मदद?

indiairanनई दिल्ली। भारत ने जिस दिन लाइन ऑफ कंट्रोल पर सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया था, ईरानियन बॉर्डर गार्ड्स ने पाकिस्तान के बलूचिस्तान इलाके में हमला किया। इस घटनाक्रम को भारत और ईरान के बीच बेहतर होते रिश्तों से जोड़कर देखा जा रहा है।

जानकारी के मुताबिक, ईरान की सेना ने पाकिस्तान के बलूचिस्तान इलाके में मोर्टार के गोले दागे। इससे पाकिस्तानी सेना हैरान रह गई। इसकी वजह से पाकिस्तानी सेना का एक धड़ा पश्चिमी सीमाओं पर व्यस्त रहा। ईरान की ओर से की गई इस हरकत के बाद पाकिस्तान ने पश्चिमी सीमा पर जवानों की तैनाती बढ़ा दी। यह घटना तब हुई, जिस रात भारत ने पीओके में ऑपरेशन चलाया था।

सूत्रों के मुताबिक, पाकिस्तानी सेना अब भी इस बात का पता लगा रही है कि ईरान ने मोर्टार क्यों दागे? बलूचिस्तान प्रांत के गवर्नर ने कहा, ‘ईरानियन बॉर्डर गार्ड्स द्वारा दागे गए मोर्टार के गोले पंजगूर जिले में गिरे। दो गोले पाकिस्तानी फ्रंटियर कॉर्प्स की चेकपोस्ट के नजदीक गिरे जबकि तीसरा किल्ली करीम दाद इलाके में गिरा। हालांकि, इस हमले में संपत्ति या जानमाल का नुकसान नहीं हुआ।’
मोर्टार हमले के बाद पाकिस्तानी लोगों में अफरातफरी मच गई। पाकिस्तानी सेना के जवान हालात का जायजा लेने के लिए तुरंत मौके पर पहुंचे। जहां यह घटना हुई, उसे दुनिया के सबसे पिछड़े इलाके में गिना जाता है। इसी इलाके में पाकिस्तान की ओर से किए गए मानवाधिकार उल्लंघन के मामलों को भारत दुनिया के सामने लाने की कोशिश कर रहा है।

Loading...

पाकिस्तान और ईरान के बीच करीब 900 किमी लंबी सीमा है। ईरान की सेना को सुन्नी आतंकी संगठन जुंदुल्लाह अक्सर निशाना बनाता रहता है। आरोप है कि इस संगठन को पाकिस्तानी सेना ने शह दे रखी है। इस वजह से ईरान पाकिस्तान के सामने नाराजगी भी जता चुका है। ईरान भी पाक पर यह आरोप लगा चुका है कि वह आतंकियों को अपनी जमीन का इस्तेमाल करने देता है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *