Breaking News

सर्जिकल स्ट्राइक और मोदी की इस दिलेरी से बदल सकते हैं विधानसभा चुनाव के समीकरण

pakbhijuनई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पहली बार पाकिस्तान की सरहद के  भीतर घुसकर आतंकियों के ठिकानों पर सेना से हमला करवाकर अगले साल देश के पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव का रुख बदल दिया है. अगर मोदी का यह दबाव जारी रहा तो यूपी में मुलायम से लेकर मायावती तक साल 2014 की तरह गुब्बारे में भरी हवा के निकलते ही चारों खाने चित होते जमीन पर पड़े दिखाई देंगे.

सपा के एक मंत्री ने बताया कि मोदी की इस दिलेरी से राजनीतिक समीकरण बदल सकते हैं. चुनाव जीतने के लिए ही मोदी ने विधानसभा चुनाव से पहले यह हमला कराया है. उधर हमले के बाद  UPCC के दफ्तर में मायूसी छायी है क्योंकि चुनाव के लिए जिस जोश के साथ ताकत झोंकी थी. वह इस हमले के बाद फुस हो गयी है. यही नहीं हमले के बाद आरएसएस में भी एक नई उमंग भरा जोश दिखाई देने लगा है. इतना ही नहीं जिन इलाकों में पहले से तनाव था वहां भी बीजेपी की अब जय-जय कार हो रही है.

और तो और गोवा में भी अब बीजेपी को सत्ता में वापस लौटने की आस बढ़ गयी है. दरअसल हमले के मुख्य सूत्रधार रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर बीजेपी के सबसे बड़े चेहरे हैं. ऐसा मन जा रहा है ‘आप’ की की लहर और कांग्रेस का एकजुट होकर चुनाव में उतारना एक बड़ी चुनौती दे रही थी. लेकिन सर्जिकल स्ट्राइक के बढ़ जिस तरह से समीकरण बदले हैं. उससे बीजेपी के खेमों में फिर से हलचल बढ़ गयी है.

पंजाब में विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी अभी भी बदत बनाये हुए है. पार्टी के चुनाव से पूर्व कराये गए सर्वे बताते हैं कि 65 से ज्यादा ‘आप’ को मिल रही हैं, लेकिन पाक से सटे पंजाब में अकाली और बीजेपी के गठबंधन को जिस तरह बादल के परिवार के कारण जनता ने नकार दिया था अब उनके दिलों में भी मोदी के प्रति एक नई आस जगती हुई दिखाई दे रही है. हालांकि बीजेपी कि छवि मुख्य रूप से पंजाब के मुख्यमंत्री बादल के परिवार कि वजह से धूमिल हुई है. लेकिन अब यहां भी बीजेपी के गठबंधन कि स्तिथि कुछ सँवारते हुए दिखाई दे रही है.

Loading...

यही नहीं उत्तराखंड में दोबारा सरकार बनाने का सपना देख रही सीएम हरीश रावत की कांग्रेस सरकार अब फिर से बनते हुए नहीं दिखाई दे रही है. दरअसल मोदी के इस आक्रमक रवैये के बाद से वहां के भी चुनावी समीकरण बदले हुए दिखाई दे रहे हैं. इसकी सबसे बड़ी वजह राज्य के हर दूसरे परिवार में से एक सदस्य का सेना में शामिल होना माना जाता है.

बहरहाल मोदी के इस मुंह तोड़ जवाब देने के बाद से मोदी कि बुराई करने वाले भी अब उनके साथ हो चले हैं. देश भर में इस हमले के बाद से पान के खोखों से लेकर लोगों के घरों तक जनता अपने परिवार के बीच बैठकर मोदी की ही प्रशंसा करती दिखाई दी. इससे यह बात साफ है कि मोदी के इस फैसले ने अगले साल होने जा रहे पांच राज्यों के चुनाव की लहर बीजेपी के पाले में दिखाई दे रही है.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *