Saturday , March 6 2021
Breaking News

भारतीय सेना ने इस तरह दिया सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम

armysurgicalनई दिल्ली। उड़ी हमले के बाद भारत की ओर से जिस ठोस कार्रवाई की उम्मीद की जा रही थी, मोदी सरकार ने उसे अंजाम दे दिया है। भारतीय सेना ने लाइन ऑफ कंट्रोल पर सर्जिकल स्ट्राइक करके सात आतंकी ठिकानों को तबाह कर डाला। सभी जानना चाह रहे हैं कि इस पूरी कार्रवाई को कैसे अंजाम दिया गया?

भारतीय सेना को खबर मिली थी कि कुछ आतंकी भारत में अपने खतरनाक मंसूबों को अंजाम देने के लिए घुसने वाले हैं। इसके बाद ही सर्जिकल स्ट्राइक की रुपरेखा बनी। सेना ने आतंकियों के लॉन्च पैड्स को तबाह कर डाला।

इस हमले को बुधवार रात अंजाम दिया गया। सेना की स्पेशल फोर्सेज (पैराकमांडोज) ने आधी रात साढ़े बारह बजे से सुबह साढ़े चार बजे तक यह मिशन चलाया।

सेना के मुताबिक, भारतीय सेना के जवान सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम देने के लिए एलओसी के दूसरी ओर तीन किमी अंदर तक घुसे। जानकार मानते हैं कि इस हमले को लेकर बेहद खुफिया तरीके से सात दिन तक प्लानिंग की गई। सीमा पर हर एक्टिविटी पर करीब से नजर रखी गई।

ये हमले हॉटस्प्रिंग, केल और लिपा समेत चार सेक्टर में किए गए। ये जगह लाइन ऑफ कंट्रोल की दूसरी ओर पाकिस्तान की ओर स्थित हैं। पाकिस्तानी सेना के मीडिया ने भी यहां संघर्ष होने की बात कबूली है।

Loading...

इन हमलों में सात आतंकी ठिकानों को तबाह किया गया। भारतीय कमांडोज को इन ठिकानों पर हेलिकॉप्टर के जरिए ड्रॉप किया गया था। मिशन को अंजाम देने के बाद वे वापस इन हेलिकॉप्टरों से सुरक्षित लौट आए।

इन हमलों की वजह से आतंकी ठिकानों को बहुत ज्यादा नुकसान पहुंचा है। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में तो 30 से 35 आतंकियों के मारे जाने की बात कही गई हैं। हालांकि, मारे जाने वाले आतंकियों की संख्या की पुष्टि अभी तक नहीं हुई है।

बता दें कि इस हमले के बाद सरकार ने शाम चार बजे ऑल पार्टी मीटिंग बुलाई है। वहीं, सीमा के करीब दस किमी का इलाका भी खाली करा लिया गया है। सेना ने कहा है कि इस हमले की जानकारी पाकिस्तानी डीजीएमओ को दे दी गई है और फिलहाल भविष्य में ऐसे हमले करने की योजना नहीं है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *