Breaking News

कैराना मामला पुलिस संभाले नहीं तो हम निपट लेंगे: हुकुम

hukumमेरठ । कैराना से पलायन के मसले पर राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग की रिपोर्ट के बाद भाजपा के तेवर पहले से कहीं ज्यादा आक्रामक हो गए हैं। आइजी जोन से मिलने पहुंचे भाजपा सांसदों ने साफ किया कि वेस्ट यूपी में दर्जनों कैराना हैं। पुलिस ने ढिलाई बरती तो भाजपा अपने ढंग से निपटेगी।

भाजपा सांसद हुकुम सिंह ने पार्टी प्रतिनिधिमंडल के साथ दोपहर चार बजे आइजी अजय आनंद से मुलाकात कर उन्हें कैराना पर तमाम संस्थाओं की रिपोर्ट सौंपी। बताया कि कैराना में वर्ग विशेष के पलायन से साफ है कि अपराधियों की मंशा क्या है? कैराना, देवबंद से लेकर सहारनपुर में तमाम स्थानों पर रंगदारी, धमकी, वसूली, हत्या एवं छेड़छाड़ का सुनियोजित षडयंत्र चल रहा है। राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग की रिपोर्ट ने पलायन की बात पर मुहर लगाकर प्रदेश सरकार को कटघरे में खड़ा कर दिया है।

इस पर आइजी जोन ने कहा कि अपराधियों की मंशा कामयाब होने नहीं दी जाएगी। दावा किया कि नौ में सात रंगदारी की घटनाओं का पुलिस खुलासा कर चुकी है। सहारनपुर सांसद राघव लखनपाल शर्मा ने भी आइजी जोन को देवबंद में हुई गोलीबारी एवं सरेआम लूट की घटना से अवगत कराया। कहा कि उनके संसदीय क्षेत्र में तमाम बाजारों में कैराना जैसे हालात हैं।

Loading...

सर्किट हाउस में हुकुम सिंह ने कहा कि हमारा काम ही राजनीति करना और मुद्दों को संसद तक ले जाना है। विधानसभा चुनावों में कैराना को मुद्दा बनाने पर भाजपा सांसद ने कहा कि पार्टी की ऐसी कोई मंशा नहीं, लेकिन मामला सुलझा नहीं तो स्वाभाविक तौर पर उठेगा। कैराना प्रकरण पर विधायक संगीत सोम की स्वाभिमान यात्रा पर पार्टी के पीछे हटने के सवाल पर उन्होंने कहा कि उस वक्त माहौल बिगड़ सकता था, इसीलिए पदयात्रा रोकी गई। हुकुम ने कहा कि अपराधियों का जाति-धर्म नहीं होता, पर कैराना में ऐसा नहीं कह सकते। प्रतिनिधिमंडल में मेरठ के सांसद राजेन्द्र अग्रवाल, बागपत के डा. सत्यपाल सिंह, नगीना के यशवंत, सहारनपुर के राघवलखन पाल, कैंट विधायक सत्यप्रकाश अग्रवाल, रवीन्द्र भड़ाना, गोपाल काली, शिवकुमार राणा, करुणेशनंदन गर्ग, जितेन्द्र सतवई, सतेन्द्र भराला, सोमेन्द्र तोमर, हरीश चौधरी, संदीप प्रधान एवं नीरज जटौली आदि शामिल रहे। शहर विधायक एवं पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डा. लक्ष्मीकांत शहर में मौजूद रहने के बावजूद नहीं पहुंचे। हालांकि उन्होंने सांसद हुकुम सिंह के प्रयास की सराहना की।

भाजपा सांसद हुकुम सिंह ने कहा कि कुछ राजनैतिक दल कैराना से पलायन प्रकरण को झुठलाने का प्रयास कर बयानबाजी कर रहे थे, लेकिन राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग की जांच ने दूध का दूध पानी का पानी कर दिया। कहा कि यह हमारा सतत मुद्दा है और कानून व्यवस्था सुधरने तक आंदोलन जारी रहेगा। आश्वासन दिया कि भाजपा की सरकार बनने पर पलायन कर गए लोगों की घर वापसी की जाएगी। गुरुवार रात को सर्वसमाज की बैठक में पहुंचे हुकुम ङ्क्षसह ने कहा कि यहां कश्मीर जैसे हालात हो गए हैं। हम अपने देश में सुरक्षित नहीं रहेंगे तो कहां रहेंगे। एनएचआरसी (राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग) की रिपोर्ट में खुरगान के कश्यप परिवार की महिला की हत्या हुई थी, उस मामले की जांच सीबीआइ से कराने को कहा है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *