Friday , November 27 2020
Breaking News

IS के हाथों मारे गए ‘भगोड़ों’ में थे चार भारतीय?

isis02नई दिल्ली। सुरक्षा एजेंसियां इन खबरों की सच्चाई परख रही हैं कि इराक के मोसुल शहर में इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने एक युद्ध क्षेत्र से भागने की कोशिश करते जिन बीस लड़ाकों का सरेआम कथित रूप से सिर धड़ से अलग कर दिया था उनमें चार भारतीय भी हो सकते हैं।

आधिकारिक सूत्रों ने हालांकि चार भारतीयों के मारे जाने के बारे में पुष्टि नहीं की है। आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी। भारतीय गुप्तचर एजेंसियों के अनुसार अब तक 23 भारतीय आईएस में शामिल हुए हैं। इनमें से छह इराक-सीरिया में विभिन्न घटनाओं में मारे गए। कुल मिलाकर 17 भारतीयों के आईएस के कब्जे वाले विभिन्न इलाकों में होने का अंदेशा है।

एजेंसियां विभिन्न सूत्रों से खबरों की पुष्टि करने का प्रयास कर रही हैं। इस दौरान यह भी पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि क्या उन लोगों में भारतीय शामिल थे, जिन्हें सरेआम कत्ल किया गया। सूत्रों ने यह जानकारी दी।

Loading...

संगठन छोड़कर जाने की कोशिश करने वालों को चेतावनी देते हुए इस्लामिक स्टेट ने निनेवेह प्रांत के मोसुल शहर में अपने 20 सदस्यों, जो भागने की कोशिश करते पकड़े गए, को सरेआम कत्ल कर दिया था।

आरा न्यूज ने बताया, ‘असंतुष्टों को शुक्रवार को मोसुल शहर में एक नाके से गिरफ्तार किया गया। यह पता चलने के बाद कि वह लड़ाके हैं और पश्चिमी मोसुल में अपने मोर्चे छोड़कर आए हैं, उन्हें सुनवाई के लिए शरिया अदालत भेजा गया। जहां मामूली तफ्तीश के बाद शरिया अदालत ने असंतुष्टों को गद्दारी के आरोप में मौत के घाट उतार देने का हुक्म सुनाया।’

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *