Friday , February 26 2021
Breaking News

CCS मीटिंग में पाकिस्तान पर पलटवार की बनी प्लानिंग

ccsनई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के उड़ी में हुए आतंकी हमले के बाद पैदा हुए हालात पर चर्चा के लिए कैबिनेट कमिटी ऑन सिक्यॉरिटी (सीसीएस) की अहम बैठक बुधवार को हुई। पीएम नरेंद्र मोदी की अगुआई में होने वाली इस मीटिंग में गृह मंत्री राजनाथ सिंह, वित्त मंत्री अरुण जेटली, रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, एनएसए अजीत डोभाल आदि शामिल हुए।

सूत्रों के मुताबिक, इस मीटिंग में पाकिस्तान को तीन तरफ से घेरने की रणनीति बनी। केंद्र सरकार कूटनीतिक, राजनीतिक और सैन्य, तीनों ही मोर्चों पर पाकिस्तान के खिलाफ कार्रवाई करने जा रही है। कूटनीतिक स्तर पर पाक को घेरने की रणनीति को अमली जामा पहनाने की प्रक्रिया शुरू भी हो चुकी है। यूएन में कश्मीर मुद्दा उठाने की कोशिश कर रहे पाक पीएम को उन्हीं के भाषा में जवाब दिया जा सकता है।

बता दें कि आतंकी हमले में 18 जवानों के शहीद होने के बाद केंद्र सरकार पर पाकिस्तान के खिलाफ ठोस कार्रवाई करने का दबाव काफी बढ़ गया है। इस मीटिंग का मकसद इसी दिशा में प्लान ऑफ ऐक्शन तैयार करना था। सूत्रों का कहना है कि मीटिंग के बाद सरकार जल्द इस आतंकी हमले पर आधिकारिक प्रतिक्रिया दे सकती है।

हालांकि, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी टॉप मंत्रियों के साथ आतंकी हमले के बारे में चर्चा कर चुके हैं, लेकिन सीसीएस औपचारिक तौर से इस बारे में चर्चा की गई। सरकार के सूत्रों ने बताया कि आम तौर पर सुरक्षा से जुडे़ विषयों पर केंद्रीय मंत्रिमंडल में चर्चा नहीं होती है, लेकिन बुधवार को होने वाली मंत्रिमंडल की बैठक में भी उड़ी हमले पर बातचीत हो सकती है।

Loading...

आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि सरकार के शीर्ष स्तर पर इस बारे में एक तरह की राय है कि भारत को सोच समझकर, बहुस्तरीय और सामरिक प्रतिक्रिया देनी चाहिए और पाकिस्तान को संयुक्त राष्ट्र समेत अन्य अंतरराष्ट्रीय मंचों पर बेनकाब करना चाहिए। इस योजना के तहत डायरेक्टर जनरल मिलिटरी ऑपरेशन उड़ी हमले में पाकिस्तान की संलिप्तता के बारे में अपने पाकिस्तानी समकक्ष को जल्द ही सबूत सौंपेंगे।

गृह मंत्री ने मंगलवार को जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा हालात पर समीक्षा बैठक की थी। इस मीटिंग में एनएसए अजीत डोभाल, विदेश सचिव एस जयशंकर, गृह मंत्रालय के टॉप अफसरों के अलावा रक्षा मंत्रालय, अर्धसैनिक बलों और इंटेलिजेंस एजेंसियों के प्रतिनिधि भी शामिल हुए थे। उधर, मंगलवार को ही गृह सचिव राजीव महर्षि ने श्रीनगर पहुंचकर सिक्यॉरिटी रिव्यू मीटिंग की। उन्होंने सीएम महबूबा मुफ्ती और गवर्नर एनएन वोहरा से भी मुलाकात की।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *