Breaking News

अखिलेश पर भारी पड़ रहे हैं चाचा शिवपाल!

rdescontrollerलखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव कल तक जिसे ‘बाहरी’ बताकर समाजवादी पार्टी (सपा) के भीतर झगड़े का जड़ बता रहे थे उन्हें पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने राष्ट्रीय महासचिव बना दिया है. अंकल अमर सिंह पर अखिलेश के साथ-साथ पार्टी नेता आजम खान भी बयान दे चुके थे. आजम ने कहा था कि सांप को चाहे जितना भी दूध पिला लो वह कोटेगा जरूर…
खबर है कि अमर सिंह को मुलायम ने यूपी विधानसभा चुनाव में बड़ी जिम्मेदारी निभाने को भी कहा गया है. जानकारों की माने तो अमर सिंह की धमाकेदार वापसी के साइड इफेक्ट समाजवादी पार्टी में जल्दी ही दिखाई देंगे. राजनीतिक विश्लेषकों के अनुसार, मुलायम के इस फैसले से पार्टी में नए सिरे से पावर बैलेंस के समीकरण भविष्‍य में देखने को मिलेगा. खुद मुख्‍यमंत्री अखिलेश पर भी इसका असर साफ नजर आएगा.

मंगलवार को अपने पुत्र अखिलेश यादव को एक और झटका देते हुए सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने अमर सिंह को पार्टी का राष्ट्रीय महासचिव नियुक्त कर दिया. करीब छह साल पहले उन्हें पार्टी और इसी पद से हटाया गया था. मुलायम ने अमर सिंह को हाथ से लिखे एक पत्र में कहा, ‘आपको समाजवादी पार्टी का महासचिव नियुक्त किया जाता है. मुझे आशा है कि आप आनेवाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में पार्टी को मजबूत बनायेंगे.’ यह संक्षिप्त पत्र लोकसभा लेटरहेड पर लिखा गया है. इस पर मुलायम के हस्ताक्षर हैं. पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव के आधिकारिक ईमेल से यह पत्र मीडिया को भेजा गया.

मुलायम ने इस फैसले से अखिलेश और अपने चचेरे भाई रामगोपाल यादव को यह संदेश दिया है कि अमर सिंह पार्टी के लिए महत्वपूर्ण हैं. हालांकि, दोनों उनका विरोध कर रहे थे. हालिया विवाद में अखिलेश ने कहा था कि सारा झगड़ा एक ‘बाहरी’ व्यक्ति की वजह से हुआ है. अगर अब उनके और नेताजी (मुलायम) के बीच कोई बाहरी व्यक्ति आया, तो उसे बाहर कर दिया जायेगा.

Loading...

आपको बता दें कि कुछ दिन पहले ही अखिलेश यादव और शिवपाल यादव का झगड़ा सामने आया था जिसके बाद मुलायम सिंह यादव को बीच बचाव करना पड़ा था. जानकारों की माने तो शिवपाल यादव सूबे के मुख्‍यमंत्री अखिलेश पर भारी पड़ सकते हैं.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *