Wednesday , March 3 2021
Breaking News

मुलायम क्यों डरे प्रजापति से ?

gayatri-mulayamनई दिल्ली/लखनऊ। उत्तर प्रदेश में चल रहा सियासी संकट ख़त्म होने का नाम ही नहीं ले रहा। हर कोई शक्ति प्रदर्शन पर उतारू है लेकिन बीते 48 घंटे का सच है क्या यह कोई बताने को तैयार नहीं। दरअसल मुलायम सिंह जिस वक़्त अखिलेश का फैसला पलटा तो उन्होंने सबसे पहले अखिलेश द्वारा हटाये गए मंत्री गायत्री प्रजापति का नाम लिया। गायत्री प्रजापति पहले से ही मुलायम के करीबी तो रहे ही हैं लेकिन बड़ा सवाल यही है कि मुख्यमंत्री के फैसले को पलटकर गायत्री को फिर से मंत्री बना देने के पीछे मुलायम सिंह की क्या मजबूरी थी।

दरअसल पूरे घटनाक्रम को सिलसिलेवार तरीके से देखें तो पता चलता है कि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने प्रजापति के ख़िलाफ़ सीबीआई जांच का आर्डर दिया था जिसके बाद राज्य सरकार ने मामले की सीबीआई जाँच न कराने की कोर्ट से गुजारिश कर कहा कि सीबीआई जांच के आदेश हुए हैं उन्हें वापस ले लिया जाए। लेकिन बात बनी नहीं और अखिलेश यादव ने मामले की गंभीरता को समझते हुए प्रजापति को आनन-फ़ानन में मंत्री पद से बर्ख़ास्त कर दिया।

सूत्रों की माने तो गायत्री प्रजापति ने मुलायम सिंह यादव से साफ़ कहा कि अगर उनकी सीबीआई जाँच करती है तो इस जाँच में सपा और सरकार से जुड़े कई वरिष्ठ लोगों पर भी गाज गिर सकती है। गायत्री प्रजापति ने मुलायम सिंह से कहा कि इस पूरे मामले की आंच आप तक भी पहुँच सकती है। जिसके बाद मुलायम सिंह ने अखिलेश के फ़ैसले को बदलते हुए फौरन एलान कर दिया कि वह गायत्री प्रजापति को वापस मंत्री बनाएंगे।

Loading...

दरअसल इसी डर की वजह से राज्य सरकार ने अब सुप्रीम कोर्ट में एसआईपी दी है कि जांच को रोक दिया जाए। इससे पूरी तरह से पार्टी और सरकार अब बेनक़ाब हो गई है और यह भी स्पष्ट हो गया है कि मुलायम सिंह कितने उत्सुक है प्रजापति को बचाने के लिए। अब यह भी साफ हो गया कि अखिलेश यादव क्यों इतनी आसानी से दबाव में आ गए।

मंत्रियों की बर्ख़ास्तग़ी के ज़रिये अखिलेश यादव की एक अच्छी तस्वीर बन रही थी, अब वह पूरी तरह से बिगड़ गई है। अखिलेश यादव इससे बेहद आहत हैं। उनका कहना है कि जब उनके नाम से ही अगले चुनाव में लोगों के बीच जाना है तो उन्हें अपने हिसाब से काम क्यों नहीं करने दिया जा रहा। अखिलेश के बेहद क़रीबी के अनुसार इस पार्टी में दोफाड़ की वजह कोई और नहीं बल्कि अमर सिंह है, दिल्ली के पांच सितारा होटल में केतन देसाई और अमर सिंह ने मिलकर यह साज़िश रची और इसमें पूरे प्लान के तहत् पहले  मुलायम सिंह को भड़काया गया।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *