Breaking News

अखिलेश के करीबियों पर चला शिवपाल का ‘हंटर’!

shivpalलखनऊ। परिवार में सुलह के बाद अब संगठन में सफाई का दौर शुरू हो गया है। शनिवार शाम अखिलेश के करीबी मंत्री राजेंद्र प्रसाद प्रवक्ता पद से और अरविंद सिंह गोप प्रमुख महासचिव के पद से हटाए जाएंगे। सूत्रों की मानें तो अगले 24 घंटों में ये लिस्ट और बड़ी हो सकती है। इस दौरान मुलायम की शिवपाल और अखिलेश के साथ करीब दो घंटे चली बैठक खत्म हो गई। इससे पहले सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह ने यादव परिवार में शक्ति संतुलन बनाए रखने और कलह को शांत करने के लिए अपने बेटे अखिलेश यादव और भाई शिवपाल यादव को बड़ी सौगात दी है। अखिलेश यादव अब राज्य संसदीय बोर्ड के चेयरमैन होंगे। वहीं, शिवपाल यादव प्रदेश अध्यक्ष बने रहेंगे। पार्टी की पार्लियामेंट्री बोर्ड ही टिकट बंटवारे का फैसला करती है। अखिलेश भी लगातार टिकट बांटने में अपनी भागीदारी की मांग कर रहे थे। मुलायम के इस दांव से अब लग रहा है कि कुछ हद तक मामला सुलट जाएगा।
इससे पहले मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शिवपाल यादव के पुराने विभागों की बहाली करते हुए चिकित्सा शिक्षा और लघु सिंचाई विभाग भी अपने चाचा को सौंप दिया। इस तरह शिवपाल के पास 11 पुराने विभागों के साथ कुल 13 विभाग हो गये हैं। वे अखिलेश मंत्रिमंडल के सबसे प्रभावी मंत्री हो गये हैं। जबकि पीडब्ल्यूडी विभाग मुख्यमंत्री ने खुद अपने पास रखा है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने राज्यपाल को एक पत्र भेजा है, जिसमें मंत्रिमंडल विस्तार की अनुमति मांगी गई है। माना जा रहा है कि गायत्री प्रजापति समेत अन्य मंत्रियों को इस विस्तार में जगह मिलेगी।
शनिवार का दिन भी गहमागहमी भरा रहा। सुबह समाजवादी पार्टी के फ्रंटल संगठनों- सपा छात्रसभा, लोहिया वाहिनी, युवजन सभा और यूथ ब्रिग्रेड के सदस्यों ने सपा कार्यालय पर जमकर हंगामा काटा। वे शिवपाल को हटाकर अखिलेश यादव को प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने की मांग कर रहे थे। इस दौरान पुलिस और सपा कार्यकर्ताओं के बीच हाथापाई भी हुई। इस घटना से नाराज मुलायम सिंह यादव ने प्रदर्शनकारियों को फटकार लगाते हुए कहा कि मैंने पार्टी को खून से सींचा है, ये तमाशा नहीं होने दूंगा। उधर अखिलेश ने भी चाचा शिवपाल को प्रदेश अध्यक्ष की बधाई देते हुए उन्हें पूरा सहयोग देने की बात कही और कार्यकर्ताओं से आंदोलन न करने को कहा। देर शाम अखिलेश और शिवपाल के साथ मुलायम सिंह यादव के आवास पर एक अहम मीटिंग भी हुई।
सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने यूथ विंग के चारों प्रेसीडेंट को लताड़ लगाते हुए उन्हें हद में रहने को कहा है। मुलायम ने अखिलेश के समर्थकों को डांटते हुए कहा कि पार्टी में लोकतंत्र है, अपने मन से यहां काम नहीं होगा। मैंने खून से पार्टी को सींचा है। ये तमाशा नहीं होने दूंगा। अखिलेश समर्थकों को फटकारते हुए कहा तुम में से कितनों ने बूथ गठित कर लिया है, सिर्फ तमाशा करने आये हो यहां। बीजेपी वालों ने बूथ मजबूत कर रहे हैं और हम लड़ रहे हैं। कहा कि अखिलेश-अखिलेश की रट लगाए हो, क्या शिवपाल ने पार्टी के लिए कम मेहनत की है? उसने भी पार्टी के लिए बहुत दर्द सहा है।
मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शिवपाल यादव को प्रदेश अध्यक्ष बनाये जाने पर बधाई देते हुए कहा कि मैं उनका पूरा सहयोग करूंगा। संगठन और बूथ स्तर पर पार्टी को जो करना चाहिये वो करेंगे। शिवपाल यादव संग लंच करने के बाद मुख्यमंत्री ने कहा नेताजी का फैसला पार्टी के हित में होता है। अध्यक्ष पद नहीं होने से कोई फर्क नहीं पड़ता। उन्होंने कार्यकर्ताओं से आह्वान करते हुए कहा कि आंदोलन खत्म करो, सरकार बनाने में जुट जाओ। कहा कि सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने मुझे यूथ का राष्ट्रीय प्रभारी बनाया। नौजवान जिस पार्टी के साथ चलता है सरकार बनती है। बताते चलें कि समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष को लेकर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने स्थिति स्पष्ट कर दी है। आक्रामक प्रदर्शन कर रहे समर्थकों को अखिलेश ने सन्देश भेजा है और कहा है कि शिवपाल अध्यक्ष बने रहेंगे और नेताजी को तंग न किया जाए।
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *