Breaking News

नई न्यूक्लियर साइट बना रहा है पाकिस्तान: ऐनालिस्ट्स

nuclear-pakistanइस्लामाबाद। पड़ोसी पाकिस्तान द्वारा एक नई न्यूक्लियर साइट बनाने की खबर है। सैटलाइट से मिली तस्वीरों की अनैलेसिस के बाद पश्चिमी डिफेंस एक्सपर्ट्स इस नतीजे पर पहुंचे हैं कि पाक एक यूरेनियम संवर्धन कॉम्प्लेक्स का निर्माण कर रहा है। पड़ोसी देश से आ रही यह खबर भारत के लिए भी चिंताजनक है।

इस्लामाबाद से करीब 30 किलोमीटर दूर कठुआ में इस नई साइट का निर्माण चल रहा है। यह इस बात का सबूत है कि पाकिस्तान एक बार फिर नाभिकीय हथियारों की होड़ को बढ़ावा दे रहा है। ऐसा करना न्यूक्लियर सप्लायर्स ग्रुप (NSG) के मूलभूत सिद्धांतों के खिलाफ है, जबकि पाक इसका सदस्य बनने के लिए जीतोड़ कोशिश कर रहा है।

ऐसा माना जाता है कि पाकिस्तान के पास पहले से ही भारत, इस्राइल और नॉर्थ कोरिया की तुलना में ज्यादा नाभिकीय आयुध हैं। एक अनुमान के मुताबिक पाकिस्तान के पास 120 नाभिकीय हथियार हैं। यह अनैलेसिस आईएचएस जेन के इंटेलिजेंस रिव्यू की तरफ से किया गया है। इसके लिए एयरबस डिफेंस और स्पेस सैटलाइटसे 25 सितंबर 2015 और 18 अप्रैल 2016 को ली गई तस्वीरों की अनैलेसिस की गई है। यह साउथ एशिया में पाकिस्तान की तेजी से बढ़ती नाभिकीय आयुध क्षमता का एक उदाहरण है।
अनैलेसिस के मुताबिक खान रिसर्च लेब्रोट्ररीज में स्थिति यह नया परिसर 1.2 हेक्टेयर में फैला हुआ है। रिपोर्ट में कहा गया है कि साइट की तस्वीरों के आधार पर यह न्यूक्लियर फ्यूल कंपनी URENCO द्वारा ऑपरेट किए जा रहे प्लांट्स के प्रतिरूप जैसी दिख रही है। URENCO यूरोप में कई न्यूक्लियर प्लांट्स का संचालन करती है।

Loading...

आईएसएस जेन के एक ऐनालिस्ट के मुताबिक यह महज इत्तेफाक नहीं है कि एक्यू खान सेंट्रीफ्यूज डिजाइन चोरी कर पाकिस्तान लौटने से पहले URENCO में काम करते थे। एक्यू खान को पाकिस्तान के न्यूक्लियर प्रोग्राम का जनक माना जाता है।

2015 की रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान एक दशक में अपने बेड़े में 20 और नाभिकीय हथियार जोड़ सकता है। यह रिपोर्ट कार्नेगी इंडॉवमेंट फॉर इंटरनैशनल पीस और स्टिंप्सन सेंटर ने तैयार की थी। इसके मुताबिक आने वाले दशक में पाक नाभिकीय आयुध के मामले में दुनिया भर में तीसरे स्थान पर पहुंच सकता है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *