Breaking News

पठानकोट पर ऐक्शन में शरीफ, जांच के लिए बनाई जेआईटी

mn-tewamइस्लामाबाद।पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने पठानकोट में इंडियन एयर फोर्स के बेस पर आतंकी हमले की जांच के लिए एक हाई-प्रोफाइल जॉइंट इन्वेस्टिगेशन टीम (जेआईटी) गठित करने का आदेश दिया है। सोमवार को मीडिया रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है। शरीफ ने यह फैसला आतंकी हमलों से जुड़े सबूत भारत द्वारा पेश किए जाने के बाद लिया है। इस आदेश का सीधा संबंध भारत और पाकिस्तान के बीच विदेश सचिव के स्तर पर 15 जनवरी को होने वाली बातचीत से है। एक्सप्रेस ट्रिब्यून के एक पत्रकार ने भारतीय मीडिया से बताया है कि भारत ने पठानकोट हमले में जो नंबर सौंपे थे उसे लेकर सियालकोट दो गिरफ्तारियां भी हुई हैं।

इससे पहले सोमवार को भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल ने कहा था कि यदि पाकिस्तान पठानकोट में आतंकी हमले के मामले में ठोस कार्रवाई नहीं करता है तो दोनों देशों के बीच विदेश सचिव के स्तर पर होने वाली बातचीत नहीं होगी।जेआईटी गठन के फैसले में पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के अधिकारी भी शामिल हुए। इसके साथ ही इसमें मिलिटरी इंटेलिजेंस के भी अधिकारियों को शामिल किया गया। नवाज शरीफ की अध्यक्षता में एक उच्चस्तरीय बैठक हुई और उसी में जेआईटी गठन का फैसला लिया गया।पाकिस्तान के गृह मंत्री चौधरी निसार अली खान, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार लेफ्टिनेंट जनरल नासीर खान जंजुआ, प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और विदेश मंत्री तारीक फातेमी के साथ वित्त मंत्री इशाक दर इस बैठक में शामिल हुए।

एक्सप्रेस ट्रिब्यून के मुताबिक प्रधानमंत्री नवाज शरीफ पठानकोट मामले में बेहद सक्रिय हो गए हैं। ट्रिब्यून से पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ऑफिस के सूत्रों ने यह बात बताई है। सूत्रों के मुताबिक शरीफ ने आर्मी चीफ रहील शरीफ से इस मामले में बातचीत की है। जेआईटी गठन के फैसले में आर्मी चीफ को भी शामिल किया गया था। सूत्रों ने बताया कि यह जांच प्रधानमंत्री शरीफ के लिए बड़े इम्तिहान की तरह है क्योंकि इसका सीधा संबंध भारत-पाकिस्तान के संबंधों से है। बिना ठोस जांच के दोनों देशों के बीच बहाल वार्ता फिर से टूटने की कगार पर है।

Loading...

इसी महीने दो जनवरी की सुबह जैश-ए-मोहम्मद के संदिग्ध हथियारबंद पाकिस्तानी आतंकवादियों ने पंजाब के पठानकोट में इंडियन एयर फोर्स के बेस पर हमला बोला दिया था। भारतीय खुफिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस हमले की योजना पाकिस्तान में बनी थी। इस मामले में भारत ने पाकिस्तान को कार्रवाई के योग्य सबूत पाकिस्तान को मुहैया कराए हैं।

सबूतों में हमलावरों के आकाओं की बातचीत की रेकॉर्डिंग और फोन नंबर भी सौंपे गए हैं। बताया गया है कि यह सब कुछ पाकिस्तान से हो रहा था। शरीफ ने भारत और अमेरिका को आश्वासन दिया है कि इस मामले में पाकिस्तान जांच कर सच को सामने लाएगा।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *