Tuesday , March 2 2021
Breaking News

‘अच्छे दिन’ का नारा मनमोहन की देन, हमारे गले में अटका: गडकरी

gadkariमुंबई। लोकसभा चुनाव के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लगभग हर चुनावी रैली में जिस ‘अच्छे दिन’ का नारा देते थे, उस नारे को अब केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने गले में अटकी हड्डी करार दिया है। साथ ही गडकरी ने कहा कि अच्‍छे दिन कभी नहीं आते और यह नारा पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का दिया हुआ था।

गले में अटका ‘अच्‍छे दिन’ का नारा
मुंबई में एक कार्यक्रम के दौरान गडकरी ने कहा, ‘अच्छे दिन की बात सबसे पहले पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने की थी। अब यह हमारे साथ चिपक गया है। अच्छे दिन कभी नहीं आते, अच्छे दिन सिर्फ मानने से होते हैं। यह नारा हमारे गले में अटक गया है।’

गडकरी ने एक सवाल के जवाब में कहा, ‘वह मोदी जी थे जिन्‍होंने हमसे कहा था कि जब मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री थे तब उन्‍होंने इसका इस्‍तेमाल किया। अब यह हमारे साथ इस तरह चिपक गया है कि हर कोई पूछता है कि अच्‍छे दिन कब आएंगे। यह हमारे गले की हड्डी बन गया है। भारत अतृप्‍त आत्‍माओं का महासागर है और जिसके पास साइकल है, वह गाड़ी मांग रहा है और वही लोग अच्छे दिन के बारे में सवाल भी पूछ रहे हैं।’

Loading...

केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘दिल्‍ली में एक कॉन्‍फ्रेंस के दौरान एनआरआई लोगों ने पूछा कि अच्‍छे दिन कब आएंगे तब मनमोहन सिंह ने कहा कि भविष्‍य में अच्‍छे दिन आएंगे। वह यहीं से शुरू हो गया। फिर मोदी जी ने बोल दिया कि अच्‍छे दिन आएंगे और यह हमारे गले में अटक गया।’

बता दें कि 2014 के लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करीब-करीब हर समय अच्‍छे दिन के नारे का इस्‍तेमाल करते थे। बीजेपी के चुनाव अभियान के दौरान अच्‍छे दिन का इस्‍तेमाल कई मौकों पर होता था और इस पर गाना भी बना था।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *