Tuesday , March 2 2021
Breaking News

अमर सिंह पर अखिलेश का तंज, अगर घर के बाहर के लोग हस्तक्षेप करेंगे तो पार्टी कैसी चलेगी

amar-singh_akhilesh_shivpalलखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने समाजवादी पार्टी में मचे घमासान पर कहा कि ‘यह सरकार का झगड़ा है, परिवार का नहीं। नेताजी की बात सब मानते हैं। कौन उनकी बात नहीं मानेगा। कुछ फैसले मैंने उनसे पूछकर लिए हैं और कुछ मैंने खुद से भी लिए हैं।

अखिलेश यादव ने ये बातें सीएम आवास पर चेक वितरण कार्यक्रम के दौरान कही। इस दौरान उन्होंने कहा, ‘अगर घर के बाहर के लोग हस्तक्षेप करेंगे तो पार्टी कैसी चलेगी। परिवार में नेताजी की बात सबको माननी पड़ेगी। लोक निर्माण मंत्री (शिवपाल) को भी पता है कि दीपक सिंघल को चीफ सेक्रेटरी के पद से किसने हटाया है। पत्रकारों के सवाल के जवाब में सीएम अखिलेश ने कहा, कि ‘बाहर के आदमी का हस्तक्षेप बर्दाश्त नहीं करूंगा।’ सीएम के इस बयान के बाद एक बार फिर ये कयास लगाए जाने लगे हैं कि आखिर ये ‘बाहर का आदमी’ है कौन। हालांकि चेक वितरण कार्यक्रम में पत्रकारों ने सीएम अखिलेश से कई सवाल पूछे जिसे उन्होंने टाल दिया। लेकिन उनसे जब दिल्ली जाने के कार्यक्रम के बारे में पूछा गया तो उन्होंने पलटकर पत्रकार से ही पूछा, ‘मेरा कार्यक्रम आपको कैसे पता है।’ कार्यक्रम में सीएम अखिलेश यादव ने कम्प्यूटर अनुदेशक किरण सिंह की डेंगू से हुई मौत के बाद उनके परिजनों को 10 लाख का चेक दिया।

Loading...

इधर नई दिल्ली में समाजवादी परिवार में मचे घमासान के बीच अमर सिंह ने पाला बदलते कहा कि दिल्ली में अमर ने मीडिया से कहा, ” बेटा (अखिलेश) अब जवान हो गया है। अब वो उत्तर प्रदेश के करोड़ों लोगों के मुख्य अभिभावक भी हैं। वरिष्ठ नेताओं ने उन्हें शैशव अवस्था में देखा है। यौवन में आने के बाद वो प्रदेश के मुख्यमंत्री बने। मेरा इस परिवार से राजनीतिक संबंध नहीं है।” अमर सिंह ने कहा- मैंने पिछले दिनों अपने भतीजे पर कुछ बायनबाजी कर दी थी, जो मुझे नहीं करनी चाहिए थी। हाल ही में अमर सिंह ने एक टीवी चैनल से बातचीत में कहा था, ”राज्य सभा सीट के बदले मुझे अपमानित किया जा रहा है। मैं इस्तीफा देना चाहता हूं। लेकिन इस पर फैसला पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव से मिलने के बाद लूंगा। राज्यसभा में मुझे मूक-बधिर बना दिया गया है।यूपी के सीएम अखिलेश यादव के बारे में कहा, वो फोन पर नहीं मिलते हैं। उनका सचिव कहता है आपका नाम सूची में डाल दिया गया है आगे सूचित कर दिया जाएगा। आपसे बात करवा दी जाएगी।”

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *