Tuesday , November 24 2020
Breaking News

कल्याण पुलिस अटैक कांड में चार गिरफ्तार

murder-attemptकल्याण। कल्याण में मंगलवार को गणपति विसर्जन के एक पुलिस उपनिरीक्षक को डुबाकर मारने के आरोप में चार आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इन चारों की गिरफ्तारी विसर्जन तालाब पर लगे सीसीटीवी कैमरे द्वारा रिकॉर्ड किए गए दृश्यों को देखने के बाद हुई है। गिरफ्तार आरोपियों के नाम बंदेश दत्ता गायकवाड, नयन दिलीप गायकवाड, नरेश महादू गायकवाड और राहुल गायकवाड हैं। यह चारों आरोपी जरीमरी माता मित्रमंडल के सदस्य हैं।

यह है मामला
मंगलवार को डेढ़ दिन के गणपति का विसर्जन था। कल्याण पूर्व के तिसगांव तालाब पर लोगों की बड़ी भीड़ थी। कानून और व्यवस्था की स्थिति पर नियंत्रण बनाए रखने के लिए बड़े पैमाने पर स्थानीय पुलिस का बंदोबस्त भी था। पुलिसवालों में पुलिस उपनिरीक्षक नितिन डगले की ड्यूटी भी तिसगांव तालाब पर लगी थी। तभी एक परिवार उपनिरीक्षक डागले के पास आया और विसर्जन के लिए थोड़ी सी जगह उपलब्ध कराने की विनती करने लगा। मदद के लिए उपनिरीक्षक डागले आगे आए और उन्होंने विसर्जन तालाब पर मौजूद जरीमरी माता मित्र मंडल के कार्यकर्ताओं से थोड़ा सरक कर जगह देने को कहा।

इस बात पर युवकों ने डागले को ही धक्का देकर तालाब के पानी में गिरा दिया। इतना ही नहीं एक युवक पानी में कूदा और उसने उपनिरीक्षक डागले का सिर पानी में डूबा कर उनकी जान लेने की भी कोशिश की। पुलिस वाले पर हमला होते ही वहां हंगामा और शोर मच गया। इसके बाद डागले ने किसी तरह अपनी जान बचाई और तालाब के पानी से बाहर आए। बाद में उन्होंने घटना की शिकायत कोलसेवाडी पुलिस स्टेशन में दर्ज कराई।

चला सर्चिंग ऑपरेशन
डागले की शिकायत के बाद पुलिस ने तालाब के आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज के आधार पर हमलावर युवकों की गिरफ्तारी के लिए सर्चिंग ऑपरेशन शुरू किया और चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

Loading...

बीजेपी समर्थित विधायक के कार्यकर्ता
बताया जा रहा है कि गिरफ्तार चारों आरोपी बीजेपी समर्थक स्थानीय विधायक गणपत गायकवाड के कार्यकर्ता हैं, घटना के बाद मंगलवार देर रात तक विधायक गणपत गायकवाड ने डीसीपी के साथ बंद कमरे में करीब चार घंटे तक चर्चा की थी, लेकिन पुलिस उपनिरीक्षक को डुबाकर मारने की घटना की खबर इतनी तेजी से फैली कि पुलिस को चारों आरोपियों को गिरफ्तार करना ही पड़ा।

हमले को लेकर रोष
बीजेपी के शासन में पुलिस वालों पर हो रहे हमलों को लेकर पुलिस और आम लोगों में रोष व्याप्त है। खबर है कि इस घटना के विरोध में लोगों मे कल्याण में मोर्चा भी निकाला। ट्रैफिक हवलदार विलास शिंदे की मौत और विलेपार्ले में महिला ट्रैफिक हवालदार की पिटाई और लालबाग के राजा गणेश पंडाल में तैनात पुलिसवालों के साथ बदसलूकी घटना के बाद कल्याण में पुलिस उपनिरीक्षक को डुबाकर मारने की कोशिश की घटना ने पुलिस के खत्म होते खौफ और उनकी सुरक्षा पर ही सवालिया निशान लगा दिया है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *