Thursday , November 26 2020
Breaking News

पंजाबः सिद्धू ने बनाया नया फ्रंट, केजरी की खोली ‘पोल’

navjotचंडीगढ़। राज्य सभा की सदस्यता छोड़ने वाले पूर्व बीजेपी नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने गुरुवार को ‘आवाज ए पंजाब’ नाम से नया मोर्चा खोल दिया। विधानसभा चुनाव से पहले पंजाब में इस नए फ्रंट के लॉन्च के साथ बादल ने राज्य की अकाली-बीजेपी सरकार से लेकर आम आदमी पार्टी तक पर जमकर हमला बोला।

सिद्धू ने इस दौरान दिल्ली के सीएम केजरीवाल के बारे में कहा कि उन्होंने उनको लेकर ट्वीट कर आधा सच बोला था। सिद्धू ने कहा कि उनकी आम आदमी पार्टी में रोल को लेकर बात हुई थी। सिद्धू ने कहा, ‘मुझसे कहा गया कि चुनाव मत लड़िए, हम आपकी पत्नी को चुनाव लड़ाकर मंत्री बना देंगे। मैंने उन्हें साफ इनकार कर दिया। वे भी मुझे शोपीस बनाना चाहते थे।’

बादल सरकार पर अपने चिरपरिचित अंदाज में तंज कसते हुए सिद्धू ने कहा, ‘काले बादल मंडरा रहे हैं। सूरज को निकलने नहीं दिया जा रहा है। काले बादल को चीरकर अब सूरज निकलना चाहिए। अब यह मौसम बदलना चाहिए। जो नकाब बदलने में हैं खूब माहिर, जनाजा धूम से उनका निकलना चाहिए।’
सिद्धू ने बीजेपी पर भी जमकर भड़ास निकाली और कहा कि उनसे 200 रैलियां कराई गईं, लेकिन जब मतलब निकल गया तो उन्हें भुला दिया गया।

चंडीगढ़ में पूर्व हॉकी खिलाड़ी परगट सिंह और बैंस भाइयों ( बलविंदर सिंह बैंस और सिमरजीत सिंह बैंस) के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस की शुरुआत करते हुए सिद्धू ने कहा कि हर काम किसी मकसद के साथ होता है। आवाज-ए-पंजाब का मकसद बेहाल पंजाब को खुशहाल करना है। हमारी नजर लक्ष्य पर नहीं, बल्कि उसके रास्ते पर है। जुल्म करना पाप है लेकिन उसे सहना उससे भी बड़ा पाप है। अभी पंजाब के सामने केवल दो ही विकल्प है। एक गड़बड़ वाला, दूसरा ज्यादा गड़बड़ वाला।’

उन्होंने कहा, ‘हरित क्रांति वाला पंजाब आज कर्ज में डूबा हुआ है। हमारी लड़ाई उस सिस्टम है जिसने पंजाब को बर्बाद किया। हमें एकजुट होकर पंजाब को बदलने की जरूरत है। लोग चाहते हैं कि ऐसा नेता आए जो कमजोरी को ताकत में बदले। पंजाब को बदलने की चाहत रखने वाले नेता साथ आएं। लोगों की सरकार लोगों के वास्ते होनी चाहिए थी, लेकिन यह सरकार एक परिवार के लिए हो गई। सारे पंजाब का मुनाफा एक परिवार का मुनाफा हो गया है।’

Loading...

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *