Thursday , November 26 2020
Breaking News

पंजाब यूनिट में बड़े बदलाव की तैयारी में AAP

arvind-kejriwalचंडीगढ़। पंजाब में अंतर्कलह और विद्रोह से जूझ रही आम आदमी पार्टी स्टेट यूनिट में बड़े बदलाव की तैयारी में हैं। इतना ही नहीं, राज्य में दिल्ली से भेजे गए 8 पर्यवेक्षकों को भी पार्टी जल्द ही वापस बुला सकती है। सूत्रों के मुताबिक पार्टी के उन स्थानीय नेताओं को जो किसी खेमे में नहीं हैं, नई जिम्मेदारी दी जा सकती है।

इसके अलावा चुनाव प्रचार को और गति देने के लिए पार्टी फंड इकट्ठा करने वाली टीम बनाने की योजना बना रही है। विधानसभा स्तर पर किसी ऐसे नेता की नियुक्ति की जाएगी जो किसी खेमे से न जुड़ा हो और उसका काम चुनाव प्रचार की निगरानी करना होगा। इन बदलावों पर अंतिम फैसला पार्टी मुखिया अरविंद केजरीवाल 11 सितंबर को लेंगे।

AAP के पूर्व पंजाब संयोजक सुच्चा सिंह छोटेपुर के समर्थन में बगावत करने वाले 6 जोन कॉर्डिनेटर को पार्टी ने हटा दिया है। इनकी जगह नए लोगों को जिम्मेदारी दी गई है। जिन 6 नए जोन कॉर्डिनेटर्स की नियुक्ति की गई है, वो हैं- जीएस शामपुरा (गुरदासपुर), जसविंदर सिंह जहांगीर (अमृतसर), सुखदीप सिंह अपरा (जालंधर), दर्शन सिंह धालीवाल (श्री आनंदपुर साहिब), दीपक बंसल (बठिंडा) और जगदीप सिंह संधू (फिरोजपुर)।
हालांकि AAP नेताओं ने इन संभावित बदलावों को किसी तरह की डैमेज-कंट्रोल एक्ससाईज बताने से इनकार कर रहे हैं। पंजाब में आम आदमी पार्टी के भीतर अंतर्कलह जगजाहिर हो चुकी है। रिश्वत लेने के आरोप में पूर्व संयोजक सुच्चा सिंह छोटेपुर को हटाने के बाद पार्टी में एक तबका दिल्ली से आए नेताओं के खिलाफ मुखर हो चुका है।

Loading...

बागी खेमा घोषित किए गए उम्मीदवारों के नामों को वापस लेने और सुच्चा सिंह छोटेपुर को फिर से राज्य संयोजक बनाने की मांग कर रहा है। AAP राज्य की कुल 117 विधानसभा सीटों में से 32 सीटों के लिए उम्मीदवारों के नामों का ऐलान कर चुकी है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *