Sunday , November 29 2020
Breaking News

आतंकवाद के मुद्दे पर भारत-अमेरिका ने मिलकर पाकिस्तान को दी ‘वॉर्निंग’

john-kerry-ptiनई दिल्ली। भारत और अमेरिका ने सोमवार को आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान को कड़ा संदेश दिया। अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन केरी के साथ साझा संवाददाता सम्मेलन में सुषमा स्वराज ने कहा कि आतंकवाद के मुद्दे पर किसी भी देश को दोहरा मानदंड नहीं अपनाना चाहिए। भारत-अमेरिका रणनीतिक और वाणिज्यिक वार्ता के सेकंड राउंड की बातचीत के बाद भारतीय विदेश मंत्री ने कहा, ‘आतंकवाद के सवाल पर दोनों देशों के बीच सहमति थी। हमदोनों इस बात पर सहमत थे कि किसी भी राष्ट्र को आतंकवाद पर दोहरे मापदंड नहीं अपनाने चाहिए।’

जाहिर है इशारा साफ तौर पर पाकिस्तान की तरफ था। सुषमा स्वराज ने कहा, ‘अमेरिकी विदेश मंत्री और मेरे बीच इस बात को लेकर सहमति बनी है कि पाकिस्तान को 2008 के मुंबई हमलों और 2016 के पठानकोट अटैक की साजिश रचने वालों को पकड़ने के लिए फास्ट ट्रैक ऐक्शन लेने की जरूरत है। पाकिस्तान को अपनी जमीन पर आतंकी नेटवर्क को तबाह करने की जरूरत है’ विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने न्यूक्लियर सप्लायर ग्रुप की मेंबरशिप के लिए भारत को मिले अमेरिकी समर्थन पर शुक्रिया भी कहा।
भारत ने जॉन केरी के सामने सीमा पार से जारी आतंकवाद के मुद्दे पर भारत का पक्ष रखा। सुषमा स्वराज ने कहा कि देशों को दोहरे मानदंड नहीं अपनाने चाहिए। अच्छा या बुरा आतंकवाद जैसी कोई चीज नहीं होती है। उन्होंने कहा, ‘इस वार्ता से भारत-अमेरिका के रिश्ते मजबूत हुए हैं। मुझे उम्मीद है कि दुनिया को इससे फायदा होगा।’

अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन केरी ने अपने भारतीय समकक्ष की तारीफ करते हुए कहा, ‘आपको भारत और अपने नागरिकों के हितों की जबर्दस्त वकालत करने वाले के तौर पर जाना जाता है।’ आतंकवाद के मुद्दे पर भारत के स्टैंड का समर्थन करते हुए जॉन केरी ने कहा, ‘मुंबई और पठानकोट अटैक की साजिश के सूत्रधारों को इंसाफ के कटघरे में खड़ा करने के लिए संयुक्त राष्ट्र प्रतिबद्ध है। आतंकवाद आतंकवाद है। अच्छा या बुरा आतंकवाद कुछ नहीं होता है।’

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *