Wednesday , April 24 2019
Breaking News

आर अश्विन ने दिखाया, उन्हें नजरअंदाज कर कितनी बड़ी भूल कर रहे थे चयनकर्ता

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में उन भारतीय खिलाड़ियों के बारे में पता चल रहा है कि जिन्हें आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 के लिए टीम इंडिया में नहीं चुना गया था. बहुत से खिलाड़ी तो प्रबल दावेदार होते होते ही टीम में शामिल नहीं हो सके. इनमें अंबाती रायडू और ऋषभ पंत के नाम प्रमुख हैं. इनके अलावा कुछ खिलाड़ी ऐसे थे जिन पर विचार ही नहीं हुआ. इनमें से एक नाम रविचंद्रन अश्विन का था जिन्होंने मंगलवार को राजस्थान के खिलाफ अपनी टीम को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई.

टेस्ट के नंबर वन बॉलर हैं अश्विन
आर अश्विन टेस्ट टीम इंडिया के बेहतरीन गेंदबाज हैं, लेकिन लंबे समय से वे वनडे और टी20 टीम इंडिया में नहीं हैं. उनकी जगह टीम में नहीं बन पा रही थी. वे बल्लेबाजी में प्रभावी नहीं थे इस लिए बतौर ऑलराउंडर भी वे टीम में शामिल नहीं किए जा सके. वहीं वनडे में प्रारूप के लिहाज से वे मारक गेंदबाज भी दिखे. इसलिए टेस्ट में नंबर वन गेंदबाज होने के बाद भी उनके नाम पर कभी  विचार नहीं हुआ.

गेल-मयंक ने दी पंजाब को बढ़िया शुरुआत
टॉस हार कर पंजाब को पहले बल्लेबाजी करनी पड़ी. दूसरे ओवर में ही क्रिस गेल ने अपने हाथ खोल दिए और छठे ओवर में ही गेल 34 रन (22 गेंद) के निजी स्कोर पर ज्योफ्रा आर्चर की गेंद पर विकेट के पीछे संजू सैमसन को कैच दे बैठे. गेल के बाद मयंक अग्रवाल (12 गेंदों पर 26 रन) ने मोर्चा तुरंत ही संभाल लिया, लेकिन उनकी तेज पारी 9वें ओवर में ही थम गई. दूसरे छोर पर केएल राहुल जम चुके थे उन्होंने पहले डेविड मिलर के साथ मिलकर अपनी हाफ सेंचुरी पूरी करने के साथ ही टीम का स्कोर भी 150 रन पार किया.

अंतिम ओवरों में विकेट गिरने से कम स्कोर की बनी गुंजाइश
केएल18वें ओवर में उनात्कट के शिकार बने. अगले ओवर में निकोलस पूरण और मनदीप सिंह को आर्चर ने पवेलियन वापस भेज दिया. आखिरी ओवर की पहली गेंद पर ही डेविड मिलर 40 रन बनाकर आउट हुए तब पंजाब का स्कोर 164 रन हो गया था. यहां पर अश्विन के बल्ले का कमाल बाकी था. ओवर की दूसरी गेंद पर अश्विन ने दिखाते हुए केवल चार गेंदों पर एक चौका और दो छक्के लगाने के बाद एक रन लिया. चौथी गेंद पर मंदीप सिंह ने एक लेग बाय से एक रन लिया.

Loading...

KL Rahul and David Miller

अश्विन के बल्ले और गेंद ने दिलाई जीत
अश्विन ने आखिरी दो गेंदों पर दो छक्के जड़ कर अपनी टीम का स्कोर 182 कर दिया. अश्वीन ने चार गेंदें खेल कर कुल 17 रन बनाए. इस पारी का असर राजस्थान की पारी में दिखा जो कि 20 ओवर में 7 विकेट गंवाकर केवल 170 रन ही बना सकी और मैच 12 रन से गंवा बैठी. अश्विन ने गेंदबाजी में भी कमाल दिखाया और 4 ओवर में 24 रन देकर दो विकेट भी लिए जिसमें राहुल त्रिपाठी (50) और संजू सैमसन (27) जैसे खिलाड़ियों के अहम विकेट थे.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *