Breaking News

राहुल गांधी के बचाव में उतरे कपिल सिब्बल, RSS पर किया बड़ा हमला

नई दिल्ली। कपिल सिब्बल ने महात्मा गांधी की हत्या में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का नाम जोड़ मानहानि का केस झेल रहे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का बचाव किया है। कपिल सिब्बल ने सरकारी विज्ञप्ति और किताबों का हवाला देते हुए महात्मा गांधी के हत्या के मामले में RSS को घेरने की कोशिश की है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी पर राजनीति के तहत आरोप लगाए गए हैं।

कपिल सिब्बल ने बुधवार को इस मामले पर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने 4 फरवरी 1948 की एक सरकारी विज्ञप्ति का हवाला दिया। उनके मुताबिक इस विज्ञप्ति ने संघ को खतरनाक कामों लिप्त बताया गया था। कपिल सिब्बल ने मुताबिक विज्ञप्ति ने लिखा था, ‘देश के कई हिस्सों में संघ के सदस्य हिंसा, डकैती और मर्डर जैसे कामों में लिप्त थे।’
kapil-sibal24कपिल सिब्बल ने कहा कि ये बातें राहुल गांधी ने नहीं भारत सरकार ने कही थीं। कपिल सिब्बल ने श्याम चंद की लिखी किताब ‘सैफरन फासिज्म’ के हवाले से भारत के तत्कालीन पीएम नेहरू के एक खत का भी जिक्र किया। सिब्बल के मुताबिक सरदार पटेल को लिखे इस खत में नेहरू ने गांधी की हत्या को संघ के व्यापक अभियान का हिस्सा बताया था। सिब्बल ने पूछा कि संघ ऐसी किताबों के खिलाफ क्यों नहीं केस दर्ज कराता।

सिब्बल के मुताबिक सरदार पटेल ने नेहरू के खत का जवाब देते हुए संघ को हिंदू महासभा का एक कट्टर दक्षिणपंथी संगठन कहा था, जो सावरकर के नेतृत्व में काम करता था। कपिल सिब्बल ने कहा कि सरदार पटेल ने भी इस साजिश की बात मानी थी।

Loading...

कपिल सिब्बल के मुताबिक गोपाल गोडसे ने खुद कहा था कि उनके सारे भाई संघ में थे। सिब्बल ने कहा कि सरदार पटेल की विरासत संभालने का दावा करने वाले लाल कृष्ण आडवाणी ने नाथूराम गोडसे के संघ से लिंक को खारिज किया था लेकिन खुद गोपाल गोडसे ने संघ से जुड़े होने की बात कही थी।

गौरतलब है कि बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में मानहानि केस की सुनवाई के दौरान राहुल गांधी की तरफ से कहा गया कि उन्होंने कभी भी गांधी की हत्या के लिए एक संस्था के तौर पर संघ को दोषी नहीं ठहराया था। सिब्बल ने कहा कि यह भी लिखा गया है कि गांधी की मौत के बाद संघ ने मिठाई बंटवाई थी।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *