Thursday , November 26 2020
Breaking News

तेलंगाना के उप-मुख्यमंत्री बोले, पीवी सिंधु को गोल्ड जीतने लायक कोचिंग दिलवाएंगे

gopiहैदराबाद। तेलंगाना सरकार और भारतीय नेताओं के लिए इससे ज्यादा शर्मिंदगी की बात क्या होगी कि वे रियो में सिल्वर जीतने वाली पीवी सिंधु को ‘प्रॉपर कोचिंग’ देने की बात कह रहे हैं। भले इसे अनजाने में दिया बयान कहा जाए, लेकिन तेलंगाना के उप-मुख्यमंत्री महमूद अली ने ऐसी बात कही जो कोच पुलेला गोपीचंद के लिए अपमानजनक है। सोमवार को हैदराबाद के गचीबाउली स्टेडियम में पीवी सिंधु का भव्य स्वागत किया गया। इस मौके पर अली ने कहा, ‘हम सिंधु को प्रॉपर कोचिंग देने की योजना बना रहे हैं ताकि वह अगले ओलिंपिक में गोल्ड जीत सकें।’ इस समय पुलेला गोपीचंद सिंधु के कोच हैं और सिंधु के मेडल जीतने में उनका भी बराबर का योगदान है।

पूर्व ऑल इंग्लैंड चैंपियन और नैशनल कोच पुलेला गोपीचंद बैडमिंटन अकैडमी चलाते हैं, जहां कम उम्र के खिलाड़ियों को भविष्य के लिए तैयार किया जाता है। पुलेला बताते हैं कि अकैडमी शुरू करते समय उनकी आर्थिक स्थिति बेहद खराब थी और इसे खोलने के लिए उन्हें अपना घर तक गिरवी रखना पड़ा था। जिस समय अली ने कोचिंग वाली बात कही, उस समय गोपीचंद मंच पर ही मौजूद थे। हालांकि, बाद में अली ने यह भी कहा, ‘सिंधु के पास अभी जो कोच हैं (गोपीचंद), वह भी अच्छे हैं, लेकिन अगले टूर्नमेंट में हम उन्हें गोल्ड मेडल के लिए तैयार करेंगे।’

रोचक बात यह है कि बैडमिंटन में भारत को दोनों मेडल गोपीचंद की स्टूडेंट्स ने ही दिलाए हैं। 2012 के लंदन ओलिंपिक में जब साइना नेहवाल ने ब्रॉन्ज मेडल जीता था, तब साइना के कोच गोपीचंद ही थे। तेलंगाना सरकार ने सिंधु के मेडल जीतने पर उनके लिए पांच करोड़ और गोपीचंद के लिए एक करोड़ रुपए नकद इनाम की घोषणा की है। गोपीचंद के तैयार किए हुए खिलाड़ियों में के. श्रीकांत भी शामिल हैं जो रियो ओलिंपिक में क्वॉर्टर-फाइनल तक पहुंचे। पुरुष एकल वर्ग में चीन के लिन डान ने श्रीकांत को हरा दिया।

Loading...

वैसे सिंधु के मेडल जीतने के बाद अली के बयान के अलावा भी काफी कुछ हास्यास्पद हुआ। आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के बीच सिंधु की उपलब्धि का श्रेय लेने की होड़ चल रही है। दोनों ही राज्यों ने सिंधु को अपना बताते हुए उन पर इनामों की बरसात कर दी, जो अब भी जारी है। इस खींचतान के बाद सिंधु की मां और उनके कोच गोपीचंद ने कहा कि आंध्र प्रदेश और तेलंगाना की बेटी होने से पहले सिंधु भारत की बेटी हैं और उन्हें एक भारतीय के तौर पर देखा जाना चाहिए।

गचीबाउली स्टेडियम से पहले एयरपोर्ट पर भी सिंधु और गोपीचंद का भव्य स्वागत किया गया। दोनों को मुंबई से मंगाई गई डबल डेकर बस से पूरे शहर में घुमाया गया, जहां हर कोई उनकी एक झलक पा लेने के लिए बेताब था। लोग सिंधु की तस्वीरें खींच रहे थे और उन पर फूल बरसा रहे थे।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *