Thursday , November 26 2020
Breaking News

बैंक है या “भूतों का “ठिकाना”, लॉकर खुलता नहीं और गायब हो जाता है “खजाना”!

bank-theft-ghostनई दिल्ली। बैंक के लॉकर में अपनी जिंदगी भर की कमाई रखकर लोग निश्चिंत हो जाते हैं। उन्हें यकीन होता है कि उनकी कमाई लॉकर में सबसे सुरक्षित है लेकिन हम जिस बैंक की बात कर रहे हैं वहां लॉकर में रखा कीमती सामान अचानक ही गायब हो जाता है। बैंक कर्मचारियों की मानें तो इसमें उनका हाथ नहीं है, तो सवाल उठता है कि क्या कोई भूत इस चोरी को अंजाम दे रहा है।

पीलीभीत में पंजाब एंड सिंध बैंक के इस ब्रांच में भूत है। जो पिछले कुछ दिनों से बैंक के लॉकर में रखे सोने को गायब कर रहा है। ये दावा कर रहे हैं इस बैंक के लॉकर में पैसा जमा करने वाले लोग। आपको ये बातें अजीब लग सकती हैं, लेकिन लोग तो यही शिकायत कर रहे हैं कि उनके लॉकर से लाखों रुपए का सोना गायब हो चुका है। मगर बैंक मैनेजर और स्टाफ अपनी गलती मानने को तैयार नहीं है। तो ये सवाल उठना लाजिमी है कि क्या इस बैंक में कोई भूत है जो सोना गायब कर रहा है।

पंजाब एंड सिंध बैंक ने लोगों को भरोसा दिया था कि यहां लॉकर में रखा उनका पैसा, उनके जेवर या कोई भी सामान बिल्कुल सुरक्षित है, लेकिन 11 अगस्त को एक व्यापारी ने शिकायत की कि उसके लॉकर से 25 तोला सोना गायब हो चुका है। खबर लगते ही बैंक में लॉकर मालिकों की लाइन लग गई। लोग अपना लॉकर चेक करने में जुट गए। इसी दौरान 16 अगस्त को जब सुदेश साहनी नाम की इस महिला ने अपना लॉकर चेक किया तो उनके होश उड़ गए। इनके लॉकर से 60 तोला सोना गायब हो चुका था। खबर लगते ही पूरे शहर में हड़कंप मच गया। बैंक में पुलिस और फोरेंसिक टीम पहुंचकर जांच में जुट गईं। महिला का दावा है कि कुछ दिन पहले ही इन्होंने लॉकर चेक किया तो उसमें सोना मौजूद था, लेकिन अब उसमें कोई सेंध लगा चुका है।

Loading...

पहली नजर में सोना गायब करने के पीछे किसी बैंक कर्मचारी का ही हाथ लगता है, लेकिन बैंक के मैनेजर का दावा है कि लॉकर की दो चाबी होती हैं, एक मैनेजर के पास और दूसरा लॉकर मालिक के पास। दोनों चाबियों को लगाने पर ही लॉकर खुल सकता है। लॉकर मालिकों की शिकायत पर पुलिस ने बैंक मैनेजर और पूरे स्टाफ के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। पुलिस के मुताबिक पहली नजर में बैंक की लापरवाही साफ नजर आ रही है, क्योंकि बैंक में सीसीटीवी कैमरा नहीं लगा है। फिलहाल पुलिस फाइलों पर हुए दस्तखत और ऊंगलियों के निशान जुटाकर सच तक पहुंचने की कोशिश कर रही है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *