Breaking News

कांस्य पदक विजेता साक्षी मलिक को राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार मिलना तय?

sakshi19नई दिल्ली। रियो ओलिंपिक में भारत के लिए पहला पदक जीतने वाली महिला पहलवान साक्षी मलिक को राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार मिलना तय माना जा रहा है। कांस्य पदक विजेता पहलवान साक्षी मलिक को सरकार की नीति के अनुसार देश का सर्वोच्च खेल सम्मान राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार मिलना तय है। यह फैसला किया गया था कि ओलिंपिक वर्ष में जो भी पदक जीतेगा, उसे राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा।

साक्षी को अब तक अर्जुन पुरस्कार तक नहीं मिला है, लेकिन सरकार की नीति के अनुसार यह सुनिश्चित है कि उसके नाम पर सीधे खेल रत्न के लिए विचार किया जाएगा। रियो में मामूली अंतर से पदक से चूकने वाली जिम्नैस्ट दीपा कर्मकार और फाइनल में जगह बनाने वाले निशानेबाज जीतू राय के नामों की भी इस पुरस्कार के लिए सिफारिश की गई है।

साक्षी मलिक को रेलवे देगी 50 लाख और बनाया OSD स्पोर्ट्स

रियो ओलंपिक में भारत को पदक दिलाने वाली साक्षी मलिक की खुशियों को और बढ़ाते हुए उनको ऑफिसर ऑन स्पेशल ड्यूटी बनाने की घोषणा की गई है. रेल मंत्री सुरेश प्रभू, रेल राज्यमंत्री राजेन गोहेन और टेलीकॉम मंत्री और रेलराज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने साक्षी को रियो ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने पर बधाई दी है. रेलवे ने साक्षी मलिक को ओएसडी स्पोर्टस् बनाने की घोषणा करते हुए उनको 50 लाख रुपये नकद इनाम देने का भी ऐलान किया है.

भारतीय रेलवे की कर्मचारी साक्षी मलिक ने 58 किलोग्राम कैटेगरी में महिला फ्रीस्टाइल कुश्ती में रियो ओलंपिक में कांस्य पदक जीता है. रेलवे के डीआईपी वेदप्रकाश के मुताबिक साक्षी मलिक दिल्ली डिवीजन के अंतर्गत डीआरएम ऑफिस में बतौर क्लर्क कार्यरत हैं. ओलंपिक में पदक जीतते ही साक्षी को गजेटेड अफसर बनाने की घोषणा रेलवे ने कर दी है.

Loading...

साक्षी मलिक ने रचा इतिहास
साक्षी मलिक ने ओलंपिक में महिला कुश्ती में पदक जीत कर इतिहास रच दिया है. ओलंपिक में खराब प्रदर्शन के चलते भारतीय खिलाड़ी कोई पदक नहीं जीत पा रहे थे और ऐसे में साक्षी मलिक के शानदार प्रदर्शन ने पूरे देश में उम्मीद की लहर भर दी. साक्षी मलिक ने रियो ओलंपिक में 58 किलोग्राम वर्ग की महिला कुश्ती किर्गिस्तान की खिलाड़ी को 8-5 के स्कोर से हरा कर कांस्य पदक अपने कब्जे में कर लिया.

कोच कुलदीप मलिक ने दी ट्रेनिंग
रेलवे की एक दूसरी महिला खिलाड़ी विनेश फोगट को घायल हो जाने की वजह से 48 किलोग्राम वर्ग के क्वार्टर फाइनल में चीन की खिलाड़ी के हाथों हार का मुंह देखना पड़ा. इन सबके बावजूद रेलवे ने विनेश फोगट के प्रदर्शन की तारीफ की है. भारतीय रेलवे की महिला खिलाड़ियों ने कुश्ती मुकाबलों में देश का झंडा ऊंचा किया है.भारतीय रेलवे के कुश्ती कोच कुलदीप मलिक ने महिला खिलाड़ियों को ओलंपिक के लिए प्रशिक्षित किया. भारतीय रेलवे के प्रवक्ता अनिल सक्सेना के मुताबिक रेलवे हमेशा ही खेलों को प्रोत्साहित करती रही है और इस बार रेलवे से 35 खिलाड़ियों का जत्था ओलंपिक में भाग लेने गया हुआ है. उनके मुताबिक साक्षी की जीत से रेलवे में बहुत खुशी है और उनके देश लौटने पर जोरदार स्वागत किया जाएगा.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *