Breaking News

रियो ओलिंपिक: सेमीफाइनल में पहुंची सानिया-बोपन्ना की जोड़ी, पदक की जगी उम्मीद

sania-bopanna13रियो डी जनीरो। सानिया मिर्जा और रोहन बोपन्ना की जोड़ी ने रियो ओलिंपिक में टेनिस की मिक्स्ड डबल्स स्पर्धा के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है। सानिया और बोपन्ना ने ब्रिटेन के एंडी मरे और उनकी जोड़ीदार हीथर वॉटसन को 6-4, 6-4 से मात देकर अंतिम चार में जगह बनाई। चौथी वरीयता प्राप्त भारतीय युगल जोड़ी क्वॉर्टरफाइनल मुकाबले में हावी रही और 67 मिनट में ही मैच अपने नाम कर लिया। इस जीत के साथ ही भारत पदक की ओर बढ़ गया है। सेमीफाइनल में जीत के बाद सानिया मिर्जा और बोपन्ना का सिल्वर मेडल पक्का हो जाएगा। जबकि हार के बाद उन्हें कांस्य पदक के लिए मुकाबले में उतरना होगा।

अपने लंबे ओलिंपिक इतिहास में भारत को टेनिस स्पर्धा में अब तक महज एक मेडल ही मिला है। 1996 के अटलांटा ओलिंपिक में लिएंडर पेस ने पुरुष सिंगल्स टेनिस स्पर्धा में कांस्य पदक जीता था। युगल मुकाबले में एंडी मरे खासे थके हुए दिखाई दे रहे थे। इसकी वजह शायद यह भी थी कि वह सिंगल्स क्वॉर्टरफाइनल के विजयी मुकाबले के बाद इस मैच में खेलने उतरे थे। तीन ग्रैंडस्लैम खिताब विजेता और ओलिंपिक की पुरुष सिंगल्स स्पर्धा के मौजूदा चैंपियन मरे आगे आने वाले बड़े मुकाबलों के लिए अपनी एनर्जी बचाते हुए दिखे।

उनके भारी पैर और कमजोर मूवमेंट ने सानिया और बोपन्ना की जीत की राह खासी आसान कर दी। वहीं, हीथर वॉटसन भी अपनी लय से बाहर दिखीं। उनके खेल से ऐसा लग ही नहीं रहा था कि उन्होंने इसी साल मिक्स्ड डबल्स का विबंलडन खिताब अपने नाम किया है। वह पहले ही सेट से सर्विस और ग्राउंड स्ट्रोक्स पर संघर्ष करती नजर आईं।

Loading...

सानिया और बोपन्ना की जोड़ी ब्रिटिश टीम से पूरे मुकाबले में बेहतर नजर आई। बोपन्ना बेहतरीन सर्व के साथ मजबूत दिखाई दिए, जबकि सानिया मिर्जा ने बैक ऑफ द कोर्ट से शानदार खेल दिया।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *