Friday , November 27 2020
Breaking News

किडनी ट्रांसप्लांट रैकिट के पीड़ित परिवार का खुलासा, बेटे को मां की किडनी लगाई, फिर निकाली!

hiranandani-hospital-powaiठाणे। मुंबई के पवई स्थित डॉ़ हीरानंदानी हॉस्पिटल के किडनी ट्रांसप्लांट रैकिट में शामिल डाक्टरों की गिरफ्तारी के बाद उनका शिकार हुए पीड़ित परिवार अब सामने आ रहे हैं। ठाणे के पडवल नगर स्थित फोलरेंस हाउस बिल्डिंग के एक फ्लैट में किराये पर रहने वाले 26 वर्षीय रोशन जगताप का ऑपरेशन मुलुंड स्थित हीरा मोंगी हॉस्पिटल में गत 6 मई को किया गया था।

इस दिन रोशन को उनकी मां शैला जगताप (50) की किडनी ट्रांसप्लांट की गई थी। रोशन के मुताबिक, ऑपरेशन के तीन दिन बाद डॉक्टरों ने यह कहकर किडनी निकाल ली कि उनकी मां की किडनी उनके शरीर से मैच नहीं हो रही है। इसके बाद रोशन को डायलिसिस की सलाह देकर एक साल बाद दूसरी किडनी लगाने का आश्वासन दिया गया।

धोखाधड़ी का अंदेशा
रोशन का ऑपरेशन किडनी रैकिट में पकड़े गए डॉक्टर मुकेश शेट्टे और डॉक्टर मुकेश शाह के मार्गदर्शन में किया गया था। किडनी रैकिट का पर्दाफाश होने के बाद जगताप परिवार को संदेह है कि इन डॉक्टरों ने उनके साथ भी धोखाधड़ी की है।

Loading...

खराब हुई जिंदगी
रोशन की मां शैला जगताप के मुताबिक, 4 लाख रुपये खर्च होने के बावजूद उनकी और उनके बेटे की जिंदगी खराब हो गई है। किडनी निकाले जाने के बाद से शैला का स्वास्थ्य ठीक नहीं चला रहा है और लगातार दो ऑपरेशन किए जाने से उनका बेटा भी शारीरिक रूप से काफी कमजोर हो गया है।

क्या हुआ किडनी का?
जगताप परिवार के सामने सवाल यह है कि आखिर बेटे रोशन जगताप के शरीर में लगाई गई उनकी मां की किडनी तीन दिन बाद डॉक्टरों ने निकालकर क्या किया।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *