Breaking News

करोड़ों में एक केस की सफल रही ऐंजियोप्लास्टी: दाईं ओर धड़क रहा था उल्टा दिल!

heart-bcclमुंबई। दिल का हाल दिल ही जाने की तर्ज पर मुंबई के एक अस्पताल में ऐसा अनूठा केस आया कि डॉक्टर भी हतप्रभ रह गए। ललित कोठारी (61) को हृदय में तकलीफ होने पर उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। चेकअप के दौरान पता चला कि कोठारी का दिल अपनी जगह पर नहीं था। उनके सीने में दिल बाईं की जगह दाईं तरफ धड़क रहा था। इतना ही नहीं, उनके दिल की आर्टरी भी अपनी जगह पर नहीं थी।

जांच में डॉक्टरों ने उनके हार्ट में ब्लॉकेज भी पाए, जिसे तत्काल ऐंजियोप्लास्टी की जरूरत थी। कोठारी की ऐंजियोप्लास्टी करने वाले जसलोक हॉस्पिटल के डॉक्टर अश्विन मेहता ने कहा कि मरीज का दिल विपरीत जगह होने के साथ ही उसका फंक्शनल पार्ट भी अपनी जगह पर नहीं था। ऐसे में ऐंजियोप्लास्टी करने में गंभीर समस्याओं का सामना पड़ा।

Loading...

जन्म से मरीजों में लेफ्ट की बजाय राइट में दिल 5 लाख में से एक को होता है, जबकि ऐसे मामले में आर्टरी का अपनी जगह पर न होना 25 लाख में किसी एक व्यक्ति में मिलता है। ऐसे मरीजों में कॉरनरी की समस्या होना 10 करोड़ में से किसी एक में दिखती है। डॉ़ मेहता के मुताबिक कोठारी की सर्जरी में 40 मिनट का वक्त लगा। सर्जरी के कुछ समय बाद से ही मरीज की स्थिति में सुधार होने लगा था और उसे 3 दिन बाद अस्पताल से छुट्टी भी दे दी गई।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *