Breaking News

अश्विन-साहा की पारी ने भारत को मुश्किल से निकाला

ashwin-1ग्रोस आइलेट। ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन और विकेट कीपर बल्लेबाज रिद्धिमान साहा के बीच छठे विकेट के लिए हुई 108 रन की अविजित साझेदारी की बदौलत भारत ने वेस्ट इंडीज के खिलाफ तीसरे क्रिकेट टेस्ट मैच के पहले दिन का खेल खत्म होने तक पांच विकेट के नुकसान पर 234 रन बना लिए। पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही और 126 रन के स्कोर पर आधी टीम पविलियन लौट चुकी थी, इसके बाद अश्विन (75) और साहा (46) ने संयम के साथ बल्लेबाजी की और पूरा आखिरी सेशन निकाला।

इससे पहले शिखर धवन और कप्तान विराट कोहली सस्ते में आउट हो गए हालांकि सलामी बल्लेबाज के. एल. राहुल ने 65 गेंदों पर 50 रन की तेजतर्रार पारी खेली। दूसरे टेस्ट को नाटकीय तरीके से ड्रॉ कराने में सफल रही वेस्ट इंडीज की टीम इस टेस्ट के पहले दिन मजबूत इरादों के साथ मैदान में उतरी और विपक्षी टीम को दबाव में लाने के लक्ष्य के साथ गेंदबाजी आक्रमण की शुरुआत की।

टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण करने वाले तेज गेंदबाज ने अलजरी जोसफ ने प्रभावी गेंदबाजी की और कोहली का बेशकीमती विकेट हासिल किया। चाय के बाद जब चौथा सेशन शुरु हुआ तो अश्विन और साहा ने सधी हुई बल्लेबाजी की और मजबूत साझीदारी की नींव रखी, जिससे भारत को मुश्किल स्थिति से निकलने में मदद मिली। हालांकि इस बीच वेस्ट इंडीज के गेंदबाजों ने कुछ मौकों पर दोनों भारतीय बल्लेबाजों को परेशान किया। खेल शुरू होने के तीन ओवर बाद ही मैच के 55वें ओवर में जेसन होल्डर की एक गेंद साहा के पैड पर लगी हालांकि अंपायर नीगेल लॉन्ग ने इसे नॉट आउट करार दिया। साहा उस समय एक के व्यक्तिगत स्कोर पर खेल रहे थे।

अगले ओवर में ही रॉस्टन चेज मामूली अंतर से अपनी ही गेंद पर अश्विन का कैच लपकने में चूक गये। उस समय यह भारतीय ऑफ स्पिनर 26 रन बनाकर खेल रहे थे। इसके बाद भी वेस्ट इंडीज को कई मौके मिले और 63वें ओवर में शैनन गैब्रियल की गेंद पर अश्विन पॉइंट पर पकड़े गए लेकिन गेंदबाज के साइड क्रीज पार कर जाने के कारण वह नो बॉल हो गई भारतीय टीम और अश्विन दोनों ने राहत की सांस ली। हालांकि भारतीय बल्लेबाजों ने बहुत धीरे-धीरे अपनी पारी को आगे बढ़ाया और भारत ने 150 रन का आंकड़ा 65वें ओवर में पूरा किया।

दोनों बल्लेबाजों का लक्ष्य सत्र को बिना किसी नुकसान के निकालना था और इसीलिए उन्होंने रन गति बढ़ाने पर ध्यान नहीं दिया। नतीजन दोनों के बीच की 50 रन की साझेदारी 155 गेंदों में पूरी हुई। इसके बाद विकेटकीपर साहा भी दो बार आउट होने से मामूली अंतर से बचे। इसके बाद अश्विन ने 157 गेंदों पर अपना सातवां अर्धशतक पूरा किया और भारत ने 84वें ओवर में 200 रन का आंकड़ा छुआ। हालांकि खेल खत्म होने से थोड़ी देर पहले दोनों बल्लेबाजों ने कुछ अच्छे चौके जड़े, जिससे टीम आखिरी सत्र में बिना कोई विकेट खोये 104 रन बनाने में सफल रही अन्यथा मेहमान टीम मुश्किल में पड़ सकती थी।

Loading...

लंच के बाद रोहित शर्मा (नौ) और अजिंक्य रहाणे (35) ने एक बार फिर बल्लेबाजी शुरु की और वापसी की कोशिश की। हालांकि खेल शुरू होने के 12 गेंद बाद ही जोसफ ने रोहित को विकेट के पीछे आउट कराया। वनडे प्रारूप के दिग्गज बल्लेबाज रोहित को आउट करने के साथ ही मैच पर वेस्ट इंडीज ने दबदबा कायम कर लिया। इसके बाद अजिंक्य और अश्विन ने पारी को संभालने की कोशिश की। पांचवें विकेट के लिए दोनों ने 1.65 की मामूली औसत से 39 रन जोड़े। 126 रन के स्कोर पर टीम का पांचवां विकेट गिरा। तब अजिंक्य को चेज ने बोल्ड कर दिया।

इससे पहले वेस्ट इंडीज ने टॉस जीता और पहले गेंदबाजी का निर्णय किया। उन्होंने अपनी टीम में दो बदलाव किये। मेहमान टीम ने सलामी बल्लेबाज राजेंद्र चंद्रिका और लेग स्पिनर देवेंद्र बिशू की जगह लियोन जॉनसन और 19 वर्षीय तेज गेंदबाज जोसफ को टीम में शामिल किया। जोसफ ने अपने चयन को सही साबित करते हुए महज 38 रन देकर कोहली और रोहित को सस्ते में आउट किया। वहीं चेज ने खतरनाक साबित हो रहे राहुल और टीम की नींव को मजबूती देने की कोशिश कर रहे अजिंक्य को पैवेलियन भेजा। वहीं एक विकेट गैब्रियल के खाते में गया। भारत ने अपने टीम में तीन बदलाव किये। टीम में चतेश्वर पुजारा, अमित मिश्रा और उमेश यादव के स्थान पर रोहित शर्मा, रवींद्र जडेजा और भुवनेश्वर कुमार को शामिल किया गया।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *