Breaking News

रामदेव का दावा, मैगी को पछाड़ देश का टॉप नूडल्स ब्रांड बनेगा पतंजलि का प्रोडक्ट

patanjaliमुंबई। योग गुरु रामदेव ने कहा कि पतंजलि का आटा नूडल्स अगले कुछ साल में मैगी को पीछे छोड़ते हुए देश का सबसे बड़ा नूडल्स ब्रांड बन जाएगा और इतना ही नहीं उनकी एफएमसीजी कंपनी ‘स्वदेशी’ हिंदुस्तान यूनिलीवर के अलावा अपने सेक्टर की सभी कंपनियों को पीछे छोड़ते हुए आगे निकल जाएगी।
रामदेव ने एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान संवाददाताओं से कहा, ‘पतंजलि नूडल्स जल्द ही मैगी को पीछे छोड़ते हुए देश का टॉप नूडल्स ब्रांड बन जाएगा। वर्तमान में हमारा प्रोडक्शन 100 टन है, जो बढ़कर 300-500 टन तक पहुंच जाएगा।’
उन्होंने कहा, ‘एचयूएल को छोड़कर हम सभी अन्य मल्टीनेशनल कंपनियों से आगे निकल जाएंगे। ये कंपनियां पैसे को देश से बाहर ले जा रही हैं।’ उन्होंने कहा कि पतंजलि कम कीमत के प्रोडक्ट से धीरे-धीरे अपना मार्केट शेयर बढ़ा रही है, जो अपने प्रॉफिट का 100 फीसदी सोशल सर्विस पर खर्च करेगी।
उन्होंने कहा कि पतंजलि अपनी प्रोडक्शन कॉस्ट एमएनसी कंपनियों की तुलना में कम रख रही है, जिससे प्रोडक्ट्स की कीमत कम रखी जा सके। पतंजलि को अगले पांच से सात साल में अपना प्रॉफिट 5,000 करोड़ रुपए से 10,000 करोड़ रुपए तक पहुंचने की उम्मीद है और वह इसे अपने गैर मुनाफे वाले कार्यों में लगाएगी।
रामदेव देश भर में स्कूलों की चेन खोलने की भी योजना बना रहे हैं, जो वेदिक के साथ ही आधुनिक शिक्षा पर आधारित होंगे जिन्हें आचार्यकुलम कहा जाएगा। वह उसके लिए सरकार से मंजूरी मिलने का इंतजार कर रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘हम सेल्फ-सस्टेनेबल मॉडल पर स्कूल बनाएंगे और हर राज्य में 2 से 3 स्कूल होंगे।’

बाबा रामदेव के एफएमसीजी सेक्टर में कूदने का असर इस सेक्टर की टॉप कंपनियों पर पड़ेगा। इस चैलेंज को देखते हुए एचयूएल, आईटीसी, पीएंडजी, नेस्ले, ब्रिटानिया और डाबर जैसी मल्टीनेशनल कंपनियां अपनी स्ट्रैटजी में बदलाव को मजबूर हुई हैं। उनकी कोशिश है कि पतंजलि उनके कारोबार में कम से कम सेंध लगा सके।
एफएमसीजी सेक्टर में एचयूएल, आईटीसी, पीएंडजी, नेस्ले मार्केट लीडर हैं। साल 2014 के सर्वे के मुताबिक एचयूएल का मार्केट शेयर 13 फीसदी, नेस्ले 15 फीसदी, आईटीसी 22 फीसदी और प्रोक्टर एंड गैबल 23 फीसदी हिस्सेदारी है। अर्न्स्ट एंड यंग के रिटेल और कंज्यूमर प्रोडक्ट के नेशनल लीडर और पार्टनर पिनाकरंजन मिश्रा ने मनीभास्कर से कहा कि साल 2016 में पतंजलि मौजूदा एफएमसीजी सेक्टर में अहम बाजार हिस्सेदारी हासिल करेगी।
डाबर, नेस्ले, एचयूएल जैसी तमाम कंपनियों ने नए साल के लिए विज्ञापनों की स्ट्रैटजी बनाई है। डाबर इंडिया के चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर ललित मलिक ने कहा कि कंपनी ई-कॉमर्स पर फोकस करेगी क्योंकि यह तेजी से बढ़ रहा है। सरकार के सातवें पे कमिशन से लोगों की डिस्पोजेबल इनकम बढ़ेगी और एफएमसीजी कंपनियों का फोकस इन पर अधिक रहेगा। नेस्ले इंडिया के प्रवक्ता ने बताया कि कंपनी मैगी के विज्ञापन पर अधिक फोकस करेगी।
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *