Saturday , November 28 2020
Breaking News

कांस्य पदक से चूके अभिनव बिंद्रा, भारत की उम्मीदों को बड़ा झटका

abhinav-bindraरियो डी जनीरो। रियो ओलिंपिक खेलों में अब तक भारत को कई झटके लग चुके हैं। लेकिन सोमवार को पुरुषों की 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा के फाइनल से अभिनव बिंद्रा के बाहर होने से सबसे बड़ा झटका लगा है। अपना आखिरी ओलिंपिक खेल रहे बिंद्रा ने बेहतरीन खेल दिखाया, लेकिन आखिर में वह महज 0.1 पॉइंट से कांस्य पदक से चूक गए। 2008 के पेइंचिंग ओलिंपिक खेलों के गोल्ड मेडल विजेता बिंद्रा एक वक्त में 113.4 पॉइंट्स के साथ दूसरे नंबर पर पहुंच गए थे, लेकिन आखिर में वह चूक गए। इसके साथ ही भारत के लिए सोमवार को दिन बेहद निराशाजनक रहा। यही नहीं पुरुष हॉकी के मैदान में भी टीम इंडिया को जर्मनी से 2-1 से शिकस्त झेलनी पड़ी है।

अभिनव बिंद्रा 163.8 पॉइंट्स के साथ चौथे स्थान पर रहे। इससे पहले 33 वर्षीय बिंद्रा ने सोमवार को ही क्वॉलिफाइंग राउंड में 7वें स्थान पर रहते हुए फाइनल में जगह पक्की की थी। उनके मुकाबले रूस के व्लादिमीर मास्लेनिकोव ने सिर्फ एक पॉइंट की बढ़त हासिल कर कांस्य पदक कब्जा लिया। इटली के निक्कोलो कैम्प्रियानी ने गोल्ड मेडल जीता। वहीं, यूक्रेन के सेरही कुलिश ने सिल्वर मेडल हासिल किया।

Loading...

फाइनल मुकाबले की पहली सीरीज में बिंद्रा ने 29.9 पॉइंट्स का स्कोर किया। वहीं, दूसरी सीरीज में 60.1 पॉइंट्स के साथ 7वें स्थान पर रहे। तीसरी सीरीज में वह 10.7 और 10.8 के सुपर शॉट्स खेलकर तीसरी पोजिशन पर आ गए थे। इसके बाद 10.7 का एक और शॉट खेलकर वह दूसरे नंबर पर पहुंच गए।
लेकिन, छठी सीरीज में उनकी यह लय बरकरार नहीं रह सकी। बिंद्रा ने 9.7 के शॉट के साथ इसकी शुरुआत की। इसके बाद उनका दूसरा शॉट 10.5 का था इसके बाद आखिरी शॉट उन्होंने 10 का खेला, जो कांस्य पदक जीतने के लिए काफी नहीं था। इस मामूली चूक के साथ ही भारत की पदक की आस एक बार फिर टूट गई। इसके अलावा बिंद्रा का पदक के साथ ओलिंपिक खेलों से विदाई लेने का सपना भी चकनाचूर हो गया।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *